CDSL क्या है, What is CDSL or NSDL in Hindi

CDSL Full Form in hindi :- सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड, नमस्कार डियर पाठक आज के इस लेख में हम जानेंगे कि CDSL क्या है, क्योंकि अगर आपने डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट के साथ डिमैट अकाउंट खोला है तो आपको CDSL और NSDL के बारे में जरूर जानना चाहिए, क्योंकि एक ट्रेडर को बेसिक जानकारी जब होती हैं, तो वह किसी भी फ्रॉड लोगों के चक्कर में नहीं फसता है,

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि CDSL क्या है, CDSL के उद्देश्य, CDSL की स्थापना कब हुई, CDSL के कार्य और CDSL के फायदे व नुकसान और CDSL की अन्य जानकारियां भी जानेंगे, तो आप से गुजारिश है कि इस आर्टिकल को आप अंत तक अवश्य पढ़ें।

शेयर की फेस वैल्यू क्या होती है

कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है

CDSL क्या है, What is CDSL in Hindi

CDSL क्या है? सीडीएसएल का पूरा नाम सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड है यह भारत की एक डिपॉजिटरी है, जो निवेशकों‌ के शेयर, बॉन्ड, व डिवेंचर तथा सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म्स में सुरक्षित रखती हैं। आपको बता दे की CDSL, BSE यानी बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के लिए कार्य करती है। उसी प्रकार NSDL नेशनल स्टॉक एक्सचेंज NSE के लिए कार्य करती है, CDSL का मुख्यालय मुंबई में स्थित है।

CDSL डीमैट अकाउंट में एक यूनिक नंबर फॉरमैट होता है

डियर पाठक जैसा कि आपको पता है भारत में दो प्रमुख डिपॉजिटरी हैं — (NSDL) नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड और (CDSL) सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड। और यहां पर आपको बता दें कि आप जिस ब्रोकर के माध्यम से डिमैट अकाउंट खोलते हैं, उनको डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट कहते हैं। मतलब कि वह आमतौर पर CDSL या फिर NSDL के साथ अकाउंट खोलते हैं, जिसके आधार पर उन्होंने डिपॉजिटरी के साथ पार्टनरशिप की है।

अब आपको बता दें कि आपका अकाउंट कौन सी डिपॉजिटरी के अंदर खुला है तो,‌ उसकी पहचान करने का एक सिंपल तरीका है। आप अपने अकाउंट की संख्या देखें। CDSL डीमैट अकाउंट में 16 अंकों का एक यूनिक कॉन्बिनेशन होता है। वही NSDL डीमैट अकाउंट में एक अल्फान्यूमैरिक कॉन्बिनेशन होता है।। जो The IN’ वर्ड से शुरू होता है, और उसके बाद 14 नंबर की संख्या होती है।

मार्जिन ट्रेडिंग क्या है

Full Form of CDSL (CDSL का पूरा नाम)

CDSL का फुल फॉर्म Central Depository Services Limited (सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड) है।

easi CDSL क्या है?

easi CDSL डीमैट अकाउंट धारकों के लिए एक सुविधाजनक इंटरनेट-आधारित प्लेटफ़ॉर्म है

CDSL easi, का फुल फॉर्म ‘Electronic Access to Securities Information’ होता है और इसको सेंट्रल डिपॉजिटरी द्वारा स्वयं शुरू किया गया है, ताकि निवेशकों को कहीं भी कभी भी अपने प्रतिभूतियों और होल्डिंग्स को मैनेज करने में हेल्प मिल सके। अत्याधुनिक सिक्योरिटी के साथ,

CDSL द्वारा शुरू की गई यह इंटरनेट आधारित सर्विस रजिस्टर्ड अकाउंट होल्डर के साथ-साथ सदस्यों को अपने सीडीएसएल डिमैट अकाउंट का उपयोग करने वह सीडीएसएल की वेबसाइट के माध्यम से अपने लेनदेन और उनकी होल्डिंग के विवरण के बारे में जानने के लिए संभव बनाती है।

डिपॉजिटरी द्वारा कोई CDSL डीमैट अकाउंट के लिए कोई शुल्क नहीं लगाया जाता है

CDSL की स्थापना कब हुई

(CDSL) की स्थापना कब हुई – डियर पाठक CDSL की स्थापना फरवरी 1999 में पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री श्री यशवंत सिन्हा ने की थी। CDSL को SEBI (Securities Exchange Board Of India) द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। CDSL और NSDL डिपॉजिटरी सेबी के नियमों के अंतर्गत कार्य करती हैं, जैसा कि आपको मालूम है सीडीएसएल का मुख्यालय मुंबई में हैं।

सीडीएसएल के उद्देश्य

  • CDSL का मुख्य उद्देश्य निवेशको की प्रतिभूतियों को सुरक्षित और इलेक्ट्रॉनिक रूप में जमा करना है।
  • स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टरो और स्टॉक ब्रोकरो को अत्याधुनिक प्रणाली प्रोवाइड करवाना है।
  • स्टॉक मार्केट में लागत को कम करना और दक्षता को बढ़ाना है।
  • मार्केट में कागजी कार्यवाही को समाप्त करना और डिजिटलीकरण को बढ़ावा देना है।
  • एक ऐसा प्लेटफार्म उपलब्ध करवाना है जिससे निवेशक अपनी होल्डिंग और प्रतिभूतियों को मैनेज कर सकें।

CDSL के क्या कार्य है

सीडीएसएल के कुछ प्रमुख कार्य निम्नलिखित हैं –

  • CDSL अपने DP डिपॉजिटरी पार्टिसिपेंट द्वारा डीमैट अकाउंट ओपन करवाती है।
  • निवेशकों‌ के शेयर, बॉन्ड, व डिवेंचर तथा सिक्योरिटीज को इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म्स में सुरक्षित रखती हैं।
  • स्टॉक मार्केट में होने वाले लेनदेन को मैनेज करती है।
  • सीडीएसएल सभी यूजर्स के प्रतिभूतियों और सिक्योरिटी का रिकॉर्ड रखती हैं।

CDSL के फायदे।

सीडीएसएल से मिलने वाले लाभ या फायदे निम्नलिखित है—

  1. CDSL की सर्विस यानी डीमैट अकाउंट खुलवाने पर, इन्वेस्टर को सिक्योरिटीज खरीदारों के नाम ट्रांसफर करने के लिए दस्तावेजों को संभालने की जरूरत नहीं है।
  2. डीमैट अकाउंट सीडीएसएल की प्रमुख विशेषता है। जिसमें सारी सुविधाएं ऑनलाइन उपलब्ध है इसलिए निवेशक को ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।
  3. सीडीएसएल में फंड ट्रांसफर, वेरीफाइड ऑथराइजेशन और सिक्योरिटीज के पंजीकरण हाथों हाथ हो जाते हैं, इलेक्ट्रॉनिक डिपॉजिटरी से पहले काफी लंबा वक्त लगता था इस प्रोसेस में।
  4. डिविडेंड कंपनी की घोषणा के आधार पर ऑटोमेटिक यूजर के डिमैट अकाउंट में जमा हो जाते हैं। यहां तक की डीमेट अकाउंट में जमा राशि पर ब्याज भी मिलता है।
  5. CDSL के माध्यम से कंपनी का मैनेजमेंट फोल्डिंग के रियल टाइम जानकारी प्राप्त कर सकता है और सिक्योरिटीज से संबंधित किसी भी प्रकार के विवरण में परिवर्तन कर सकता है।
  6. CDSL अपने तकनीकी आर्किटेक्चर में एक टॉप स्टोरेज सिस्टम के साथ एंटरप्राइज़ – क्लास सुपर कंप्यूटर का उपयोग करता है । सरल शब्दों में , तकनीकी भाग बहुत जटिल है।

CDSL के नुकसान

वैसे तो CDSL के ज्यादा नुकसान नहीं है, और यह ज्यादातर मायनो में फायदे पहुंचाने वाला ही है लेकिन फिर भी कुछ पहलू हैं जिन पर थोड़ा विचार करने की जरूरत है।

  • CDSL में सभी निवेश डीमैट अकाउंट से डिजिटल डिजिटल रूप में होते हैं,‌ इसलिए हर निवेश पर सरकार की निगरानी जरूरी है।
  • CDSL द्वारा लेनदेन जारी रखने के लिए बहुत सारे नियम और शर्तें लागू होती है जो इस काम को थोड़ा जटिल बना देती है।
NSDL CDSL
NSDL का फुल फोर्मं National Securities Depository Limited है।CDSL का फुल फॉर्म Central Depository Services Limited है .
यह भारत की पहली इलेक्ट्रॉनिक डिपॉजिटरी है।यह भारत की दूसरी इलेक्ट्रॉनिक डिपॉजिटरी है।
इसकी की स्थापना 8 नवम्बर 1996 को हुई थी।इसकी की स्थपाना फ़रवरी 1999 में हुई थी।
यह डिपॉजिटरी NSE के लिए काम करती है।और यह डिपॉजिटरी BSE के लिए कार्य करती है।
डीमैट अकाउंट NSDL में है तो आपकी ID की शुरुवात IN से होगी और बांकी के 14 नंबर होंगे।डीमैट अकाउंट CDSL में है तो आपकी ID में 16 अंक होंगे।
NSDL डिपॉजिटरी में अकाउंट खुलवाने का शुल्क अलग-अलग होता है।CDSL डिपॉजिटरी में अकाउंट खुलवाने का शुल्क अलग होता है।
यह अपने निवेशकों से डेबिट निर्देशों के साथ अलग-अलग शुल्क लेते हैं।यह अपने निवेशकों से डेबिट निर्देशों के साथ अलग शुल्क लिया जाता हैं।

निष्कर्ष: CDSL क्या है

डियर पाठक, आज के लेख CDSL क्या है (CDSL Kya hai Hindi) में हमने CDSL के बारे में पूरी जानकारी समझी। कुल मिलाकर CDSL के साथ खोले गए डीमैट अकाउंट के साथ, आपको कई लाभ प्राप्त होते हैं, जिनमें से अधिकांश मुफ्त हैं। CDSL easi पोर्टल एक ऐसा ही महत्वपूर्ण लाभ है।

CDSL डिपॉजिटरी के साथ डीमैट अकाउंट खोलना भी काफी आसान है, क्योंकि CDSL के पास देश में फैले DPs का व्यापक नेटवर्क है। आपको अपने CDSL डीमैट अकाउंट को खोलने के लिए बस एकDP से संपर्क करना होगा।

Related Keyword

CDSL vs NSDL, NSDL kya hai in hindi, CDSL kya hai, what is cdsl, CDSL meaning in hindi, what is nsdl, nsdl meaning in hindi

Leave a Comment

error: Content is protected !!