मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज MCX क्या है?

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज MCX क्या है?

नमस्कार डियर पाठक, आज के इस लेख में हम जानेंगे कि, मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज, MCX क्या है? क्योंकि ट्रेडिंग में एक नाम आपने अक्सर सुना होगा कमोडिटी ट्रेडिंग तो उसके लिए भारत में वैसे तो कई कमोडिटी एक्सचेंज है लेकिन, MCX या मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज सबसे बड़ा है। यह एक्सचेंज भारत में कमोडिटी फ्यूचर्स के ट्रेडिंग, समाशोधन और सेटलमेंट की सुविधा प्रदान करता है। और डियर पाठक इसे 2003 में स्थापित किया गया था और फॉरवर्ड मार्केट कमीशन या एफएमसी द्वारा विनियमित किया गया था।

और आपको बता दें, कि इक्विटी मार्केट में लोग सबसे ज्यादा पैसे कमाते हैं। और उसके बाद सबसे ज्यादा कमोडिटी मार्केट में निवेश करते हैं। और आप चाहे तो कमोडिटी मार्केट में ट्रेडिंग भी कर सकते हैं, और यह करना बहुत ही इजी हैं।

शेयर मार्केट का गणित सीख गए तो बल्ले बल्ले।

MCX Kya hai, MCX Meaning in Hindi

डियर पाठक (MCX) मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड, इंडिया का पहला लिस्टेड एक्सचेंज है, जो अत्याधुनिक, कमोडिटी डेरिवेटिव एक्सचेंज है और यह कमोडिटी डेरिवेटिव्स लंदन की ऑनलाइन ट्रेडिंग की फैसिलिटी प्रोवाइड करवाता है।

और आपको बता दें कि MCX को, मल्टी कमोडिटी इसलिए कहा जाता है। क्योंकि इसमें कई सारे सेगमेंट के अंदर ट्रेडिंग की जाती है। और ज्यादातर MCX में ट्रेडिंग 4 सेगमेंट में की जाती है़।

  1. Bullion (बुलियन)
  2. Base Metal
  3. Energy (एनर्जी)
  4. एग्रो

ज्यादा सेगमेंट होने के कारण MCX को मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज कहा जाता है। डियर पाठक जैसे कि NSE or BSE में शेयर की खरीदारी और बिकवाली होती है, ठीक उसी प्रकार MCX में कमोडिटी की खरीदी और बिक्री होती है। चलिए अब इन चारो सेगमेंट को अच्छे से समझते हैं

Bullion (बुलियन)

डियर पाठक बुलियन सेगमेंट में गोल्ड और सिल्वर की ट्रेडिंग की जाती है, और ठीक वैसा ही है जैसे आप किसी ज्वेलरी की दुकान से सोना खरीदते हैं, ठीक उसी प्रकार आप इसमें डिजिटली सोना खरीदते हैं।‌ जैसे कि आपका एनालिसिस बोलता है कि आने वाले टाइम में सोने का भाव ऊपर जाएगा,‌‌ तो आप MCX एक्सचेंज के माध्यम से डिजिटल सोना खरीद सकते हैं। और भविष्य में प्राइस बढ़ने पर आप उसे बेचकर अच्छा फिट जनरेट कर सकते हैं।

बुल और बीयर मार्केट को जानो सरल भाषा में

Base Metal

बेस मेटल में मेटल की ट्रेडिंग होती है। जैसे कि एलुमिनियम, जिंक कॉपर निकेल आदि इनकी आप स्टॉक मार्केट में MCX एक्सचेंज के माध्यम से आप मेटल की ऑनलाइन खरीदी और बिक्री कर सकते हैं।

Energy (एनर्जी)

डियर पाठक आप एनर्जी सेगमेंट में, जैसे क्रूड ऑयल, थर्मल कॉल, नेचुरल गैस आदि सेक्टर आते हैं, इनकी ट्रेडिंग आप MCX एक्सचेंज के माध्यम से कर सकते हैं।

एग्रो सेगमेंट।

एक प्रमुख कृषि अर्थव्यवस्था होने के नाते, कृषि वस्तुओं में व्यापार के लिए भारत में पर्याप्त गुंजाइश मौजूद है भारत में कृषि स्तुओं के व्यापार की शुरुआत 1875 तक देखी जा सकती है, जब बॉम्बे में कॉटन ट्रेड एसोसिएशन की स्थापना हुई थी। घरेलू उपभोग के लिए वस्तुओं की कमी के कारण वस्तुओं में भविष्य के व्यापार को 1952 से निलंबित कर दिया गया था कमोडिटी ट्रेडिंग 2002 से फिर से सिफारिश की गई। वर्तमान में, कृषि कमोडिटीज के व्यापार में कुल वस्तुओं के व्यापार का लगभग 12% हिस्सा शामिल है।

MCX Kya Hota Hai, What is MCX

एमसीएक्स क्या होता है – MCX मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड है जो इंडिया में कमोडिटी एक्सचेंज है। और यह भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के अधीन आता है। और एमसीएक्स को भारत सरकार द्वारा 2003 में स्थापित किया गया था, और वर्तमान समय में यह मुंबई मे स्थित हैं, और आपको बता दें कि यह भारत का सबसे बड़ा कमोडिटी डेरिवेटिव्स एक्सचेंज है।

डियर पाठक आधुनिक समय में, कमोडिटी ट्रेड का एक एक्सचेंजों के माध्यम से ट्रेड होता है, जो कमोडिटी डेरिवेटिव्स में ट्रेड की, फैसिलिटी प्रोवाइड करवाता है। भारत में प्रमुख कमोडिटी एक्सचेंजोंं ने 2017-18 में एक साथ 60 लाख करोड़ रुपये से अधिक का ट्रेड किया था।

कमोडिटी ट्रेडिंग के फायदे

डियर पाठक वैसे तो आप कमोडिटी ट्रेडिंग के ऊपर हमारा यह लेख पढ़ सकते हैं। कमोडिटी ट्रेडिंग क्या होती है इसमें आपको कमोडिटी ट्रेडिंग से रिलेटेड पूरी जानकारी मिल जाएगी लेकिन फिर भी आपको यहां पर कुछ फायदे हैं जो बता देते हैं।

  1. विविधीकरण में मदद करता है।
  2. हेजिंग (बचाव-व्यवस्था)
  3. मुद्रास्फीति से सुरक्षा।
  4. लिक्विडिटी।

कमोडिटी की कीमतों को प्रभावित करने वाले कारक

  1. मौसम की स्थिति :- कमोडिटी एक्सचेंजों के माध्यम से होलसेल कमोडिटीज़ ट्रेड किए गए ही कृषि कमोडिटीज़ हैं। मौसम की स्थिति का कमोडिटी की कीमत को प्रभावित करने वाले कृषि सामानों के उत्पादन पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ता है।
  2. आर्थिक और राजनीतिक स्थिति :- व्यापक अर्थव्यवस्था के प्रदर्शन का कमोडिटीज़ की मांग पर सीधा असर पड़ता है। यदि अर्थव्यवस्था मजबूत है, तो कमोडिटीज़ की खपत बढ़ जाती है और कीमत भी। आर्थिक स्थितियों के साथ-साथ राजनीतिक घटनाएँ भी कमोडिटी की कीमतों को प्रभावित करती हैं।
  3. सरकारी नीतियां:- सरकार प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से कमोडिटी की कीमतों को प्रभावित करती है, सरकार कोयले जैसी कमोडिटीज के उत्पादन को नियंत्रित करती है। और गेहूं व चावल जैसी कई सारी कमोडिटीज की खरीददारी भी करती है, इसलिए खरीद दिया उत्पादन पैटर्न में किसी भी प्रकार परिवर्तन कीमतों को प्रभावित कर सकता है।

निष्कर्ष, मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज MCX क्या है?

डियर पाठक आज के इस लेख मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज, MCX क्या है? में हमने एमसीएक्स के बारे में जाना और यह भी जाना चाहिए क्या कार्य करता है अगर आप किसी भी सेगमेंट में निवेश करने की सोच है तो पहले एक रणनीति तैयार कर ले फिर ही इन्वेस्ट करने की सोचे अन्यथा बड़ी हानि हो सकती हैं।

MCX Full Form?

Multi Commodity Exchange

MCX Full Form in Hindi?

MCX मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज का मतलब = “बहु वस्तु लेनदेन” होता है. सिंपल लैंग्वेज मे इसे कई प्रकार की वस्तुओं को खरीदना और बेचना कहेगे।

Commodity Trading Time MCX?

कमोडिटी में आप सुबह 9am बजे से लेकर रात के 11:30 तक आप ट्रेडिंग कर सकते है। जो लोग जॉब करते है । उनके लिए इसमें ट्रेडिंग करना आसान है। क्योंकि आप रात को भी कमोडिटी में ट्रेडिंग कर सकते है।

error: Content is protected !!