शेयर बाजार में नुकसान से बचने केे टिप्स | कभी नुकसान नहीं होगा

नमस्कार डियर पाठक आज के लेख में हम जानेंगे शेयर बाजार में नुकसान से बचने केे टिप्स, किस प्रकार आप ट्रेडिंग में कुछ बातों का ध्यान रखकर स्टॉक मार्केट में लॉस करने से बच सकते हैं, क्योंकि अगर आपको लॉन्ग टर्म पैसा बनाना है तो सबसे पहले आपको पैसा बचाना सीखना होगा।

क्योंकि स्टॉक मार्केट में ज्यादातर यह देखने को मिलता है, कि जो भी नए निवेशक आते हैं वह सबसे पहले काम ही यही करते हैं, पैसा लॉस करने का लेकिन आज के इस लेख को पढ़ने के बाद यह तो पक्का है कि आप स्टॉक मार्केट में ज्यादा पैसा लॉस नहीं करोगे ऐसा नहीं है कि मार्केट फीस नहीं लेता है।

लेकिन आप जानबूझकर गलती नहीं करोगे लेकिन आपको पहले इस लेख को पूरा पढ़ना होगा क्योंकि तभी आप सीख पाएंगे कि मार्केट में आपको क्या गलती नहीं करनी है जिससे आपके पैसे बर्बाद नहीं हो। तो चलिए जानते हैं शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स के बारे में जिनको फॉलो करके आप मार्केट में बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे।

शेयर खरीदने का तरीका

शेयर बाजार की टाइमिंग

स्टॉक मार्केट में नुकसान से बचने के टिप्स (Stock Market Tips)

शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स :- चाहे कोई सी भी फील्ड हो अगर वहां पर रणनीति नहीं है, तो उस फील्ड का कोई मतलब नहीं है। ठीक उसी प्रकार अगर आप शेयर मार्केट में रणनीति के हिसाब से नहीं चलोगे तो आपका मार्केट में कोई अस्तित्व नहीं रहेगा, इसलिए अपनी रणनीति में नीचे दिए गए टिप्स को फॉलो कीजिए ताकि आपको मार्केट में कम से कम लॉस हो।

1, एनालिसिस करना (होमवर्क करना)

डियर पाठक शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स में सबसे पहली बात यह है कि आप जब भी कोई स्टॉक खरीदें या किसी कंपनी का स्टॉक खरीदने जा रहे हैं या फिर आप निफ्टी या बैंक निफ्टी में ट्रेड करना चाहते हैं, तो भी आपको रिसर्च करना बहुत जरूरी है। रिसर्च में आती है जैसे कंपनी के फंडामेंटल जिसमें कंपनी की बैलेंस शीट फाइनेंशियल स्टेटमेंट कंपनी की क्या ग्रोथ रेट है कंपनी इन फ्यूचर कैसा प्रदर्शन कर सकती है।

क्या यह सेक्टर आगे बढ़ाने वाला है और बहुत कुछ अगर आप इंट्राडे ट्रेडिंग करते हैं या करना चाहते हैं तो भी आपको होमवर्क की आवश्यकता होगी क्योंकि बिना रिसर्च किए अंधेरे में तीर चलाने जैसा कार्य है। अगर आप रिसर्च करके ट्रेडिंग करते हैं तो आपको कामयाब होने से कोई नहीं रोक सकता

क्योंकि यह रिसर्च करने से चीजें आसान हो जाती है कि आपको कहां पर ट्रेड लेना है किस सेक्टर में लेना है और चार्ट को समझना बेहद जरूरी है,‌ इस नियम को फॉलो करेंगे तो नुकसान लगभग न के बराबर होगा अगर आप फंडामेंटल एनालिसिस और टेक्निकल एनालिसिस वह चार्ट के बारे में तीन नीचे दिए गए लेख के माध्यम से समझ सकते हैं–

. फंडामेंटल एनालिसिस क्या है और कैसे करते हैं?

. ‌ टेक्निकल एनालिसिस क्या है और कैसे किया जाता है?

. चार्ट क्या है और किस प्रकार चार्ट को समझें?

2, धीरे-धीरे और थोड़ी मात्रा में निवेश से शुरू करें

स्टॉक मार्केट में पेशेंस बहुत मायने रखता है। आप यहां पर एकदम अपना सारा पैसा नहीं लगाए आपको यहां पर सीखने के साथ में थोड़ा-थोड़ा निवेश करना है, चाहे कोई सा भी सेक्टर हो एक साथ निवेश करना समझदारी वाली बात नहीं है, क्योंकि अगर आप एक साथ निवेश कर देते हैं और किसी कारणवश कंपनी का स्टॉक डाउन चला गया तो आपकी तो पूरी पूंजी चली जाएगी।

इसलिए एक्सपर्ट लोगों का कहना है कि मार्केट में कभी भी एक सेक्टर में एक साथ निवेश नहीं करें, जब भी आप निवेश करें छोटी छोटी मात्रा में निवेश करें इससे आपके द्वारा खरीदी हुई स्टॉक प्राइस हमेशा मेंटेन रहेगी जिससे आपको लगभग ना के बराबर नुकसान होने के चांस है। और अगर आप इस टिप्स को फॉलो करते हैं तो भविष्य में बेहतरीन प्रॉफिट कमा सकते हैं।

3, भेड़ चाल से दूरी रखें न्यूज़ और बड़े निवेशकों को देखकर नहीं खरीदें स्टॉक्स

शेयर मार्केट में ज्यादा लॉस करने का कारण यही चीज बनती है कि लोग खुद पर भरोसा नहीं करके लोगों के भरोसे रहते हैं कि कहीं से कुछ जुगाड़ हो जाए, फिर वह क्या करते हैं टीवी पर देखते हैं या फिर किसी न्यूज़ को देखते हैं कि फला स्टॉक यहां से यहां तक जाने वाला है, तो उसी में घुस जाते हैं रिसर्च नहीं करते और फिर कहते हैं लॉस हो गया इसलिए आप न्यूज़ के भरोसे कतई नहीं रहे हां अप टू डेट जरूर रहे।

अब इसी में दूसरी बात यह है कि कोई बड़ा निवेशक किसी कंपनी में हिस्सेदारी खरीद रहा है, तो सब लोग उसे देखते हुए उस स्टॉक में घुस जाएंगे आपको ऐसा बिल्कुल नहीं करना वरना आप बहुत पछताएंगे बड़ा निवेशक बड़ी पूंजी निवेश करता है उसे जरा सा भी बेनिफिट हुआ वह निकल सकता है। और आपको पता भी नहीं चलेगा और जब तक चलेगा कंपनी में आपको लॉस हो चुका होगा।

और वह एक्सपीरियंस वाले लोग हैं, और मार्केट में उनका एक्सपीरियंस बोलता है, आप उनके एक्सपीरियंस का इस्तेमाल मत कीजिए अपना एक्सपीरियंस बनाइए और हमारी शुभकामना है भविष्य में आप भी बड़े निवेशक बने इसीलिए किसी के पीछे नहीं चले बल्कि अपनी रणनीति बनाएं।

4, डायवर्सिफिकेशन न करना

नुकसान से बचने का चौथा टिप्स यह है डायवर्सिफिकेशन यह इन्वेस्टमेंट के मूल सिद्धांतों में से एक है क्योंकि डायवर्सिफिकेशन से आपके पोर्टफोलियो में स्थिरता आती है और डायवर्सिफिकेशन से मंदी के दौरान आपका प्रॉफिट खत्म होने से बचाने का एकमात्र तरीका है क्योंकि मार्केट हर सेक्टर को अलग-अलग प्रकार से इफ़ेक्ट करता है।

और डायवर्सिफिकेशन वोलेटाइल मार्केट में निवेशकों की लैंडिंग को इजी करता है। हालांकि स्टॉक मार्केट में यह जानना थोड़ा मुश्किल है कि निवेश करने का अच्छा समय कौनसा है। स्टॉक की किमतो का आकलन करना भी थोड़ा मुश्किल कार्य है। क्योंकि बहुत सारे लोग स्टॉक मार्केट को समय तो देना चाहते हैं लेकिन किसी वजह से ऐसा नहीं कर पाते इसलिए उनको लगता है कि फला स्टॉक इन फ्यूचर अच्छा ग्रोथ करेगा इस उम्मीद से वह उसमें निवेश कर देते हैं और उम्मीद के भरोसे अपनी पूरी पूंजी का लॉस कर बैठते हैं।

हालांकि ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जो निवेश के समय गलतियां नहीं करता है, लेकिन इंपॉर्टेंट बात यह है कि हमको उन गलतियों से सीख लेना आवश्यक है और फ्यूचर में उन गलतियों को दोहराना नहीं है।

5, अनुशासन की कमी

शेयर बाजार में नुकसान से बचने के टिप्स में यह पांचवा टिप्स है, बाजार में अनुशासन रखना बहुत जरूरी है अनुशासन की कमी हर जगह आपको मुसीबत में डाल सकती है और नुकसान पहुंचा सकती है स्टॉक मार्केट में अपने लक्ष्यों और जोखिम उठाने की क्षमता को ध्यान में रखें बिना निवेश करना आपको थोड़ा महंगा पड़ सकता है बाजार में उतार चढ़ाव आने पर जल्दबाजी करना सही नहीं है आपको थोड़ा पेशेंस रखना होगा।

अगर लॉस हो भी गया तो आपको मार्केट से लड़ना नहीं है क्योंकि नए लोग जब आते हैं तो लॉस होने पर वह बार-बार ट्रेड करते हैं जिस कारण वह दलदल में फंसते ही जाते हैं। इसलिए आपको अपना नियम रखना चाहिए कि बस इतना मिल गया या इतना चला गया अब मुझे मार्केट है फाइट नहीं करनी है।

6, लालच नहीं करें

जब आपको आप का टारगेट मिल जाता है तो ओवरकॉन्फिडेंस में या लालच में नहीं रहे, आपको जितना चाहिए उतना मिल गया बस काफी बार निकल जाइए उसी स्टॉक से क्योंकि हमने देखा है, मार्केट में लोग जब प्रॉफिट होता है तो उन्हें लगता है कि यहां तक आया तो थोड़ा और जाएगा और थोड़ा और जाने के बदले में थोड़ा सा ऊपर जाकर नीचे आ जाता है।

जिस कारण वह एग्जिट कर ही नहीं पाते हैं और फिर लॉस में बाहर निकलते हैं, इसलिए अपना माइंड क्लियर रखें कि मेरा टारगेट हिट हो गया अब चाहे मार्केट कितना भी ऊपर जाए मुझे इससे कोई लेना देना नहीं है। और थोड़ा एडवांस जाने के लिए आप ट्रिगर प्राइस का इस्तेमाल कर सकते हैं।

7, स्टॉप लॉस जरूर लगाएं

आपका माइंड बिल्कुल क्लियर रहना चाहिए कि मैं इतना उठा सकता/सकती हूं, तो आप वहां पर स्टॉपलॉस लगाएं कि अगर मार्केट इससे नीचे गया तो आप का रिस्क मैनेज जाएगा और

आप ऑटोमेटिकली उससे बाहर हो जाएंगे लेकिन अगर आपकी रिसर्च कहती हैं कि आज ही ऊपर जाने के मूड में है तो आप स्टॉपलॉस को थोड़ा सा ऊपर नीचे कर सकते हैं, और अगर आपका प्रॉफिट आज की डेट में बढ़ रहा है तो आप अपने स्टॉप लॉस को मैनेज करते जाइए इससे रिस्क मैनेजमेंट कर पाएंगे।

निष्कर्ष: शेयर बाजार में नुकसान से बचने केे टिप्स

डियर पाठक अगर आप स्टॉक मार्केट में पैसा बनाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अनुशासन और एक क्लियर माइंडसेट रखना होगा और मार्केट को समझना होगा और सीखना होगा। यहां पर आप किसी के भरोसे या किसी टिप्स के तौर पर नहीं आए क्योंकि कई सारे लोग कॉल करके ट्रेड देते हैं, या कोई लाइव ट्रेड करवाता है तो आप उन लोगों के भरोसे बिल्कुल ना रहे यह मार्केट में आप को सबसे ज्यादा दलदल में धकेलने का कार्य करते हैं।

आपको अपनी काबिलियत मजबूत करनी है यहां पर आप जितना दूसरों के भरोसे रहोगे इतना ज्यादा घाटे में रहोगे इसलिए शुरुआत भले ही थोड़ी हो लेकिन अपने दम पर हो।

आशा करते हैं आजकल एक शेयर बाजार में नुकसान से बचने केे टिप्स बहुत ही नॉलेजेबल साबित हुआ होगा आप अपने ट्रेडिंग करियर में इन टिप्स को फॉलो कीजिए और अपने नुकसान को थोड़ा कम कीजिए।

error: Content is protected !!