What is Face Value in Shares, फेस वैल्यू, FV

What is Face Value in Shares

नमस्कार डियर पाठक आज के इस लेख में हम जानने वाले हैं कि, फेस वैल्यू क्या होती हैं, (What is Face Value in Shares) क्योंकि ट्रेडिंग के दौरान इन शब्दों का कम ही इस्तेमाल किया जाता है, जैसे बुक वैल्यू, फेस वैल्यू और मार्केट वैल्यू लेकिन आपको बता दें कि इनका, भले ही ट्रेडिंग के दौरान इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

लेकिन किसी भी स्टॉक का एनालिसिस करने में यह अपना महत्वपूर्ण रोल निभाते हैं, अगर आपको भी फेस वैल्यू के बारे में नहीं पता तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से आपको अच्छी तरह से समझ में आ जाएगा कि फेस वैल्यू क्या होता है।

जानिए मार्केट केप क्या होता है,

Face Value क्या है (Face Value Meaning In Hindi)

What is Face Value in Shares:- फेस वैल्यू एक वित्तीय टर्म है। और इसका इस्तेमाल किसी स्टॉक या शेयर का वास्तविक मूल्य बताने के लिए किया जाता है, और फेस वैल्यू को हिंदी में अंकित मूल्य भी कहते हैं। डियर पाठक जब भी कोई कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्टेड होने के लिए IPO (Initial Public Offerin) के माध्यम से अपने शेयरों को जारी करती हैं।

तो वह एक मूल्य निर्धारित करती हैं, उसे ही Face Value कहते हैं। और बॉन्ड्स के मामले में फेस वैल्यू, होल्डर को बॉन्ड की मैच्योरिटी के वक्त भुगतान की गई धनराशि को कहते हैं। और आपको बता दें कि बॉन्ड्स के लिए फेस वैल्यू को अक्सर “Par Value या फिर  “par” के रूप में भी परिभाषित किया जाता है।

फ्यूचर ऑप्शन क्या है। एक बात जान लो दूसरी बार जानने की जरूरत नहीं पड़ेगी

फेस वैल्यू की परिभाषा

Face Value किसी भी शेयर या स्टॉक का वास्तविक मूल्य होता है, और यह शेयर के प्रमाणपत्र पर दर्ज रहता है। और आपको बता दें कि इसको ‘par’ के रूप में भी परिभाषित किया जाता है

बॉन्ड के मामले में फेस वैल्यू

बॉन्ड के मामले में अगर ब्याज रेट बॉन्ड के कूपन रेट से अगर ज्यादा रहती हैं, तो बॉन्ड फेस वैल्यू से काम पर या डिस्काउंट पर बिकता हैं। और उसी प्रकार अगर ब्याज रेट, कूपन रेट से कम होती है तो बॉन्ड फेस वैल्यू से ज्यादा प्रीमियम पर बिकता है। बॉन्ड की फेस वैल्यू गारंटेड रिटर्न प्रोवाइड करवाती हैं। लेकिन स्टॉक की फेस वैल्यू सामान्यतः वास्तविक प्राइस का खराब इंडिकेटर होती हैं। किसी स्टॉक की फेस वैल्यू, उस स्टॉक की स्टार्टिंग प्राइज होती है।

शॉर्ट सेलिंग क्या है? जानियें पैसे कमाने का तरीका

महत्वपूर्ण बिंदु

  • डियर पाठक फेस वैल्यू और ‘par’ एक ही है। फेस वैल्यू को शॉर्ट में FV भी कहा जाता है।
  • फेस वैल्यू कंपनी के 1 शेयर का एकाउंटिंग मूल्य होता है।
  • अगर कोई स्टॉक या शेयर ‌ अपने फेस वैल्यू से अधिक प्राइस पर बिक रहा हो तो ऐसे शेयर की प्राइस को Premium value या at discount का जाएगा।
  • यदि किसी कंपनी का स्टॉक फेस वैल्यू से कम प्राइस पर बिक रहा हो तो, उस शेयर की प्राइस को discounted value या at discount कहा जाएगा।

Face Value vs Market Value

जी नहीं Face Value का Market Value से कोई लेना देना नहीं होता है, कहने का मतलब यह है कि स्टॉक मार्केट में शेयर फेस वैल्यू के हिसाब से नहीं बिकते हैं, हालांकि लगभग सभी कंपनियां फेस वैल्यू से अधिक प्राइस में भी अपने शेयर निवेशकों को ऑफर करती हैं। शेयर की मार्केट वैल्यू इस बात पर डिपेंड करती है कि, उस शेयर की मार्केट में डिमांड कितनी है।

किसी भी स्टॉक या बॉन्ड की मार्केट वैल्यू, उसकी फेस वैल्यू से विश्वसनीय तौर पर इंगित नहीं होती है। इसका कारण यह है कि वैल्यू को प्रभावित करने वाली कई तरह की दूसरी शक्तियां मार्केट मे में विद्यमान रहती हैं, जैसे कि आपूर्ति व मांग।

फेस वैल्यू का महत्व

जैसे कि आपको पहले बताया गया है कि Face Value स्टॉक की नाममात्र कीमत होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि स्टॉक मार्केट में कभी भी शेयर फेस वैल्यू के आधार पर नहीं तो खरीदे जाते हैं, और नहीं बेचे जाते हैं। अब आप सोच रहे हो कि जब फेस वैल्यू का कुछ उपयोग ही नहीं है, तो इसका इस्तेमाल क्यों किया जाता है। लेकिन ऐसा नहीं है Face Value का इस्तेमाल अनेक प्रकार के कार्यों के लिए किया जाता है जो नीचे निम्नलिखित हैं-

  1. कंपनी जब भी अपने शेरहोल्डर्स को डिविडेंड देती हैं, तो उसकी कैलकुलेशन हमेशा Face Value से की जाती हैं।
  2. जहां तक की शेयर बोनस की घोषणा भी Face Value से ही डिसाइड होती हैं।
  3. Face Value प्रीमियम गणना की प्रोसेस में हेल्प करती हैं।
  4. और आपको बता दें कि फेस वैल्यू कंपनी के बेनिफिट की गणना करने में भी अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।
  5. स्टॉक स्प्लिट का मुख्य बेस भी Face Value ही है।
  6. Face Value स्टॉक के मौजूदा मार्केट वैल्यू को भी निर्धारित करता है।

किसी शेयर की फेस वैल्यू कैसे चेक करें?

डियर पाठक किसी भी कंपनी के शेयर की फेस वैल्यू को NSE (National Stock Exchange) या BSE (Bombay Stock Exchange) की ऑफिशल वेबसाइट द्वारा चेक कर सकते हैं, यहां पर लगभग लिस्टेड सभी कंपनियों की Face Value का पता कर सकते हैं। और यहां पर कंपनी के अन्य स्टेटमेंट और बैलेंस शीट भी चेक कर सकते हो।

मार्केट वैल्यू और फेस वैल्यू में क्या अन्तर हैं?

मार्केट वैल्यू और फेस वैल्यू दोनों अलग-अलग होते हैं। किसी शेयर की मार्केट वैल्यू शेयर की मांग और पूर्ति, कंपनी की परफॉरमेंस के आधार पर तय होती हैं। शेयर्स की मार्केट वैल्यू प्रत्येक ट्रेडिंग डे के दौरान ऊपर नीचे होती रहती हैं।

वहीं फेस वैल्यू का मूल्य फिक्स रहता हैं। फेस वैल्यू में बदलाव तब ही होता हैं जब स्टॉक स्प्लिट हो, और आपको बता देगी फेस वैल्यू को कंपनी के द्वारा तय किया जाता हैं, मगर मार्केट वैल्यू को कंपनी तय नहीं करती है।

निष्कर्ष, What is Face Value in Shares

डियर पाठक आज के इस लेख What is Face Value in Shares, फेस वैल्यू, के माध्यम से आप समझ गए होंगे कि फेस वैल्यू क्या होती है और शेयर मार्केट में फेस वैल्यू का क्या काम है मार्केट वैल्यू से कैसे अलग है फेस वैल्यू और भी बहुत कुछ सीखने को मिला होगा।

अगर आपको यह आर्टिकल नॉलेजेबल लगा हो तो इसे अपने ट्रेडर दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें साथ ही आप हमारे सोशल मीडिया हैंडल से अवश्य जुड़े ताकि आपको नई नई जानकारी सबसे पहले मिल सके।

error: Content is protected !!