स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं?

स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं?

स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं? आपको बता दें कि FII और DII यह दोनों बिल्कुल अलग संस्थान हैं। FII का मतलब Foreign Institutional Investor है। और DII का मतलब Domestic Institutional Invesdtor है। और यह कमीशन के आधार पर इन्वेस्टरो से पैसा लेकर स्टॉक मार्केट में निवेश (Invest) करते हैं।

डियर पाठक आज के लेख में हम FII और DII के बारे में संपूर्ण जानकारी को विस्तार से समझेंगे, की स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं, FII और DII क्या कार्य करते हैं शेयर मार्केट में, और आखिर शेयर मार्केट में FII और DII कितना पैसा कमाते हैं तो चलिए आगे बढ़ते हैं।

कमोडिटी ट्रेडिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमाए

FII क्या है, What is FII

FII – (Foreign Institutional Investor) आपको बता दें कि एक देश से दूसरे देश में जब स्टॉक मार्केट में बड़ी पूंजी मे के साथ संस्था द्वारा जो जो इन्वेस्ट किया जाता है, उसे ही FII (विदेशी संस्थागत निवेशक) कहा जाता है। भारतीय शेयर बाजार में FII सबसे बड़े इन्वेस्टरो में से माने जाते हैं। क्योंकि यह बड़ी पूंजी के साथ निवेश करते हैं और आपको बता दें कि FII निवेशकों ने भारतीय स्टॉक मार्केट में 2021 तक 38,356.24 करोड़ का इन्वेस्टमेंट किया है।

शेयर बाजार में भारत जैसे कई विकासशील देश हैं जहां Foreign Institutional Investor यानी FII की संपत्ति की कुल वैल्यू पर CMA लगा दी गई है। और भारत में FII को नियंत्रित सेबी (Securities and Exchange Board of India) द्वारा किया जाता है, साथ ही आपको बताते चलें कि FII जैसी कई संस्थाओं का नियंत्रण भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया जाता है।

FII से भारतीय शेयर पर क्या असर पड़ता है?

हां जी यह बिल्कुल सही बात है, FII का असर भारतीय शेयर मार्केट पर पड़ता है। और यह साफ तौर पर दिखता है, जब मार्केट गिरता है, क्योंकि आपको बता दे की, FII (विदेशी संस्थागत निवेशक) स्टॉक मार्केट में बड़ी पूंजी के साथ निवेश करते हैं, और जब यह अपना पैसा निकालते हैं, तो मार्केट में डाउनफॉल आता है मतलब की मार्केट गिरता है, जिसके कारण हम कह सकते हैं कि FII का इंडियन शेयर मार्केट पर बहुत असर पड़ता है।

FII में कौन कौनसी संस्थाये सम्मिलित हैं?

जैसा कि हम सबको पता है, इकट्ठा पैसा इन्वेस्ट करने के लिए बड़ी-बड़ी संस्थाएं हैं शामिल होती है ठीक उसी प्रकार,‌ FII में भी विदेशी म्यूच्यूअल फंड, पेंशन निधि वाली संस्थाएं, ऐसेट मैनेजमेंट वाली कंपनियां, सेविंग फंड, और कई सारी ऑर्गेनाइजेशन भी शामिल होती हैं जो इंडियन स्टॉक मार्केट में इन्वेस्ट करती हैं।

चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि Dii क्या है?

DII क्या है? What is DII

DII – (Domestic Institutional Invesdtor) आपको बता दें कि DII भारतीय संस्थाएं होती हैं, सिंपल भाषा में कहे तो घरेलू संस्थाएं, जो निवेशकों का पैसा अपने पास किसी सर्विस के माध्यम से जमा करती है, जिसके बदले निवेशकों को हर वर्ष परसेंटेज के हिसाब से रिटर्न मिलता है।

और फिर यह संस्थाएं अपने पास जमा पूंजी से स्टॉक मार्केट में निवेश करते हैं, DII (घरेलू संस्थागत निवेशक) संस्थाओं में जैसे कि – म्यूच्यूअल फंड, LIC, और कई सारी बीमा कंपनियां होती हैं।

DII का मार्केट पर असर।

हां जी बिल्कुल DII कभी शेयर बाजार पर असर पड़ता है, जैसे कि अगर बाजार में खरीदी अधिक हो जाए तो मार्केट अपट्रेंड पकड़ता है, यानी कि बुलिश हो जाता है, और वही अगर बिक्री अधिक हो जाए तो तो मार्केट डाउन ट्रेंड में चला जाएगा यानी कि नीचे गिरेगा। लेकिन यहां पर मजे की बात यह है कि FII और DII के बीच अक्सर कंपटीशन चलता हैय

जैसे कि FII संस्थाएं अगर शेयर मार्केट में खरीदी करेगी तो वही DII संस्थाएं मार्केट में बिक्री करेगी, लेकिन यह कोई जरूरी नहीं है कभी-कभी यह संस्थाएं है, एक साथ खरीदी भी कर सकती है। इसलिए आप मार्केट को एनालिसिस करते रहें।

भारत में DII कौन-कौन से है?

  • Indian Mutual Fund Company
  • Indian Insurance Company
  • Local Pension Fund
  • Banking & Financial Institution

FII – DII डेटा का उपयोग

डियर पाठक अगर आप FII और DII के डाटा का उपयोग करके मार्केट के ओवरऑल सेंटीमेंट का पता करने के लिए कर सकते हैं। इससे यह पता चलता है कि बड़े-बड़े ऑपरेटर हैं, कहने का मतलब जिनके पास अधिक मात्रा में पूंजी है और जिनके पास सामान्य निवेशकों से ज्यादा मार्केट की समझ है, वह किस प्रकार मार्केट को वॉच कर रहे हैं, जैसे कि अगर उनको लगता है कि मार्केट बढ़ने वाला है, तो हो वह अधिक खरीददारी करेंगे। इसी प्रकार अगर उनको लगता है कि फ्यूचर में मार्केट गिरेगा तो वह बिक्री ज्यादा करेंगे।

लेकिन डियर निवेशको आपको केवल इसी रिसर्च पर डिपेंड नहीं रहना है, बल्कि खुद की रिसर्च काम में लेनी है यह बस एक मार्केट को समझने का तरीका है, इसके आधार पर आप कोई भी ट्रेड नहीं ले और नहीं इन्वेस्ट करें।

निष्कर्ष, स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं?

‌आशा करते हैं कि आपको यह लेख, स्टॉक मार्केट में Fii और Dii क्या होते हैं? काफी नॉलेजेबल लगा होगा, और आपका FII -DII वाला कांसेप्ट क्लियर हो गया होगा, अगर आप शेयर मार्केट देखना चाहते हैं तो स्टॉक पत्रिका के नोटिफिकेशन को Allow पर क्लिक करके ऑन कर ले। यहां पर आपको स्टॉक मार्केट कि हर बारीकी से रूबरू करवाया जाएगा। आप हमारे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से भी जुड़ सकते हो जिनके लिंक्स आपको नीचे मिल जाएंगे।

error: Content is protected !!