Support and Resistance in Hindi | आसान भाषा में समझिए 2022

नमस्कार प्रिय पाठक आपका स्वागत है, जब भी आप शेयर मार्केट में ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग करने के लिए रिसर्च करते है तो इसमें सबसे बड़ी भूमिका टेक्निकल चार्ट की होती है यहां पर आपको काफी मात्रा में हरी और लाल कैंडल देखने को मिलती है अब बात आती है कि सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस क्या है, सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस कैसे काम करता है आपको किसी भी कंपनी के चार्ट पर उसके ट्रेंड का पता लगाने के लिए आपको वहां पर सपोर्ट और रजिस्टेंस की लाइन को लगा कर देखना पड़ता है समर्थन और प्रतिरोध का अर्थ क्या है चलिए हम आपको इसे और आसान भाषा मैं समझाते हैं

Support and Resistance in Hindi

हम आपको सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस इन हिंदी को डिटेल में समझाएं उससे पहले आप एक बार आप इसको इस उदाहरण के माध्यम से समझने का प्रयास कीजिए

उदाहरण – मान लीजिए आप एक कमरे में खड़े हैं, और आपके हाथों में एक बोल है जब आप इस बोल को नीचे गिरआते हैं तो आपके कमरे की फर्श इस बोल के लिए समर्थन (support) बन जाती है जिसके कारण बोल वापस ऊपर की ओर आती है

अब जब आप बोल को छत की ओर फेंकते हैं तो छत इस बोल के लिए प्रतिरोध (resistance) बन जाती है जिसके कारण छत बोल को वापस नीचे की तरफ धकेल दी है

सपोर्ट और रजिस्टेंस – Support and resistance (s&p)

सपोर्ट – किसी कंपनी के टेक्निकल चार्ट पर जब आप कैंडल्स को देखते है तो वहां पर आपको उस चार्ट के इतिहास को देखना है और यह पता लगाना है की पीछे इतिहास में इस कंपनी का चार्ट कहां तक गिर कर वहां से वापस सपोर्ट लेकर ऊपर उठा है तो पीछे जहां से इस चार्ट को सपोर्ट मिला है आप वहां पर अब एक लाइन बना लीजिए अब मार्केट जब भी नीचे की ओर आएगा तो वह उस पीछे वाले सपोर्ट की जगह से वापस ऊपर आने का प्रयास करेगा इस तरह से आप सपोर्ट लाइन बना सकते हैं

रजिस्टेंस – जब किसी कंपनी का चार्ट नीचे से ऊपर की तरफ जा रहा है तो आप उस चार्ट के इतिहास को देखिए और यह पता लगाने का प्रयास कीजिए कि यह है पिछली बार कहां से रजिस्टेंस तक जाके वापस नीचे की तरफ आया था यह पिछली बार जहां से नीचे आया आप वहां पर एक लाइन बना दीजिए अब यह लाइन आपके रजिस्टर का काम करेगी और जब यह प्राइस और ऊपर की तरफ जाएगा तो संभावना है कि यह उस रजिस्टेंस से टकराकर वापस नीचे की तरफ आ जाए

Demat account कैसे खोलें

सपोर्ट और रजिस्टेंस क्या है

किसी भी कंपनी के टेक्निकल चार्ट के इतिहास को देखकर यह पता लगाया जाता है कि इस चार्ट में किस कीमत पर खरीदने वालों की संख्या बढ़ी थी और इस कीमत पर बेचने वालों की संख्या अधिक थी

इस चार्ट पर जिस जगह से खरीदने वालों की संख्या अधिक हुई वहां पर इसका सपोर्ट बन जाएगा और जहां पर बेचने वालों की संख्या अधिक होती है वहां पर इस कंपनी के चार्ट पर रजिस्टर्ड बन जाएगा

इस प्रकार से Support and resistance किस कंपनी के कीमत मे कब खरीदारी और बिकवाली आने वाली है पता लगाने में मदद करते हैं

समर्थन और प्रतिरोध का अर्थ क्या है

समर्थन और प्रतिरोध किसी भी कंपनी के टेक्निकल चार्ट पर आप को यह समझने में मदद करते हैं कि किस कीमत पर खरीदारी आने वाली है और किस कीमत पर बिकवाली आने वाली है

जब कीमत समर्थन के पास जाती है तो वापस उठने का प्रयास करती है और जब कीमत प्रतिरोध के पास जाती है तो गिरने का प्रयास करती है यही समर्थन और प्रतिरोध का अर्थ है

सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस लेवल क्या है

जब किसी कंपनी के शेयर की कीमत उसके चार्ट पर रजिस्टेंस को पार करके और ऊपर जाने का प्रयास करती हैं तो जिस रजिस्टेंस को उसने ब्रेक किया अब यह रजिस्टेंस उसके लिए एक सपोर्ट बन जाएगा अब यह सपोर्ट की तरह काम करेगा अब इसमें यह संभावना रहती है कि शेयर की कीमत जब भी नीचे की तरफ आएगी तो जिस रजिस्टेंस को इसने ब्रेक किया है उसको यह सपोर्ट मानकर वापस ऊपर आने का प्रयास करती हैं

जब किसी शेयर की कीमत नीचे गिर रही हो और किसी सपोर्ट को ब्रेक करके और नीचे जाने का प्रयास करती है तो अब वह सपोर्ट उस कीमत के लिए रजिस्टेंस बन जाता है जिसकी यह संभावना रहती है की जब भी कीमत ऊपर आएगी तो जिस सपोर्ट को यह ब्रेक कर के नीचे गई उसको रजिस्टेंस मान के वापिस नीचे जाने का प्रयास करती है

आप सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस लेवल को नीचे दिए गए चित्र के माध्यम से समझ सकते हैं

निष्कर्ष – Conclusion

आज आपने इस लेख के माध्यम से यह सीखा कि सपोर्ट एंड रेजिस्टेंस क्या है, सपोर्ट और रजिस्टेंस कैसे काम करता है, सपोर्ट और रेजिस्टेंस लेवल क्या है और समर्थन और प्रतिरोध का अर्थ क्या होता है

हमने आपको इन सभी बिंदुओं पर विस्तार से जानकारी देने का प्रयास किया है फिर भी यदि आपका इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप हमारे साथ कमेंट बॉक्स में साझा कर सकते हैं इस लेख Support and resistance in Hindi अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!