शेयर मार्केट में Broker भाग जाए या दिवालिया हो जाए तो शेयर कैसे मिलेंगे 2022

आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं तो आपके मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि ब्रोकर भाग जाए तो क्या होगा या फिर ब्रोकर दिवालिया हो जाए तो क्या होगा आपको मार्केट में बहुत सारे ब्रोकर मिलते हैं जैसे zerodha, anjel one, up stock, alice blue आदि तो अब आपके ब्रोकर के पास पढ़े आपके शेयर कैसे मिलेंग चलिए हम आपको बताते हैं कि अगर शेयर मार्केट में broker भाग जाए दिवालिया हो जाए तो शेयर कैसे मिलेंगे

आपने सभी लोगों के मुंह से यह सुना होगा कि निवेश हमेशा लंबे समय के लिए करना चाहिए क्योंकि लंबे समय में आपको अच्छा मुनाफा मिलने की संभावना रहती है तो कई बार ऐसा होता है कि आप निवेश करके अपने निवेश किए गए पैसों को लंबे समय के लिए भूल जाते हैं अब इस बीच में मान लेते हैं कि आपका ब्रोकर भाग जाए या वह broking company बंद हो जाए तो क्या होगा आपको आपके शेयर कैसे मिलेंगे क्या आपका पैसा बर्बाद हो जाएगा या नहीं चलिए जानते हैं

शेयर मार्केट में Broker भाग या दिवालिया जाए तो शेयर कैसे मिलेंगे

जब आपका शेयर मार्केट में ट्रेडिंग और इन्वेस्टिंग के लिए डिमैट अकाउंट होता है तो हमेशा स्टॉक ब्रोकर के भाग जाने का डर बना रहता है लेकिन हम आपको बताना चाहते हैं कि इसमें डरने वाली कोई भी बात नहीं है क्योंकि आप जब भी अपने ब्रोकर के माध्यम से शेयर खरीदते हो तो यह शेयर आपके ब्रोकर के पास नहीं रहते हैं

बल्कि डिपॉजिटरी में होता है भारत में दो डिपॉजिटरी है एक CDSL ( Central Depository Services Limited ) और दूसरा NSDL ( National Depository Services Limited ) अब आपका ब्रोकर जिस भी डिपॉजिटरी के साथ में जुड़ा होगा उस डिपॉजिटरी में आपके शेयर चले जाते हैं

जब आप किसी ब्रोकर के पास अपना डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलते है तब आपका डिपॉजिटरी मैं भी एक अकाउंट खुलता है जिसके अंदर आपके शेयर पड़े रहते हैं चलिए मैं आपको इसे एक उदाहरण के माध्यम से समझाता हूं

उदाहरण – जब आप किसी बैंक में अकाउंट खुलवा दें हो तो वहां पर आपके पैसे पड़े रहते हैं लेकिन बैंक में आपको लॉकर का ऑप्शन भी मिलता है जहां पर आप अपनी कीमती चीजों को रख सकते हैं अब बैंक उस लॉकर की सिक्योरिटी करता है और उसके बदले आपसे कुछ पैसे चार्ज करता है उसी प्रकार जब आप अपना डीमेट और ट्रेडिंग अकाउंट खुलवा ते हो तो सेंट्रल डिपॉजिटरी मैं भी आपका एक अकाउंट खुलता है जहां पर आपसे शेयर पड़े रहते हैं जब आप ब्रोकर के माध्यम से शेयर खरीदते हैं तो यह शेयर 2 दिन के भीतर आपके सेंट्रल डिपॉजिटरी अकाउंट में चले जाते हैं अब जब तक आप इन्हें नहीं बेच देते तब तक इन्हें आप के सिवाय कोई भी नहीं छेड़ता है

Demat Account कैसे खोलें

Broker भाग जाए तो अब शेयर का क्या होगा

स्टॉक ब्रोकर के भाग जाने पर आपको बिल्कुल भी घबराने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि आपको मैंने समझाया कि आपके शेयर ब्रोकर के पास नहीं बल्कि सेंट्रल डिपॉजिटरी के पास पड़े रहते हैं तो अब आपके शेयर का क्या होगा ब्रोकर के भाग जाने पर आपको अपने शेयर CDSL और NSDL से कैसे मिलेंगे चलिए मैं आपको समझाता हूं

शेयर कैसे प्राप्त करें

ब्रोकर के भाग जाने पर आपको CDSL और NSDL को एक एप्लीकेशन भेजना होता है इससे पहले आपको किसी और ब्रोकर के पास अपना एक डीमैट अकाउंट खुलवाना होता है जब आप सीडीएसएल और एनएसडीएल में किसी एक को एप्लीकेशन भेजते हैं

तब आपको इस एप्लीकेशन में दो ऑप्शन मिलते हैं आप चाहे तो शेयर को अपने डिमैट अकाउंट में ट्रांसफर करवा सकते हैं या फिर आप अपने शेयर को बेचकर पैसा भी प्राप्त कर सकते हैं यह सब काम करने के लिए आपको बस एक dis slip भरनी होती है

क्या एंजल ब्रोकिंग सही है

हम आपको बता दें की एंजल ब्रोकिंग कंपनी पिछले कई सालों से शेयर बाजार में ब्रोकिंग की सर्विस दे रही है यह कंपनी अपने यूजर को फ्री में बहुत कुछ सिखाती भी है साथ ही इस कंपनी का बिजनेस मॉडल बहुत अच्छा है एंजल ब्रोकिंग कंपनी शेयर बाजार की दूसरे सबसे बड़ी कंपनी है एंजल ब्रोकिंग मार्केट में पहले ऑफलाइन सर्विस प्रदान करती थी लेकिन अब एंजल ब्रोकिंग ऑनलाइन सर्विस भी प्रदान करती है एंजेल ब्रोकिंग के लाखों यूजर है इसलिए एंजल ब्रोकिंग एक सही कंपनी है

शेयर ब्रोकर कैसे चुने

शेयर बाजार में काम करने के लिए आपको हमेशा एक डीमैट अकाउंट की आवश्यकता होती है और यह डिमैट अकाउंट आप किसी ब्रोकर के माध्यम से खोल सकते हैं तो अब बात यह आती है कि एक सही ब्रोकर का चुनाव कैसे करें

एक सही ब्रोकर का चुनाव करने के लिए आपको हमेशा उस ब्रोकर से संबंधित संपूर्ण जानकारी पढ़नी चाहिए जैसे कि :-

1) ब्रोकर कितने सालों से मार्केट में काम कर रहा है

2) ब्रोकर प्रतिवर्ष कितना and चार्ज करता है

3) स्टॉक ब्रोकर के कोई हिडेन चार्जेस तो नहीं है

4) स्टॉक ब्रोकर के बारे में सोशल मीडिया पर और इंटरनेट पर सारे रिव्यू पढ़ें

5) इस ब्रोकर के पास कितने कस्टमर है

6) ब्रोकर कोई ऐसे कार्य तो नहीं करता है जो सेबी के नियमों के खिलाफ हो

ऐसे कई सारे बिंदुओं के ऊपर आपको संपूर्ण जानकारी जुटाने के बाद ही एक सही ब्रोकर के चुनाव करने का फैसला बनाना चाहिए

ब्रोकर क्या है

भारतीय शेयर बाजार में दो स्टॉक एक्सचेंज है एक बीएसई और दूसरा एनएससी अब सेबी का एक नियम है कि आप सीधे शेयर बाजार में निवेश नहीं कर सकते आपको शेयर बाजार में निवेश करने के लिए एक ब्रोकर की आवश्यकता होती है यह ब्रोकर स्टॉक एक्सचेंज के साथ जुड़ा हुआ रहता है अब आपको इस ब्रोकर के पास 1 डीमेट अकाउंट खुलवाना पड़ता है जिसके माध्यम से आप शेयर को खरीद और भेज सकते हैं

निष्कर्ष – Conclusion

आज आपने इस लेख स्टॉक ब्रोकर भाग जाए तो में यह सीखा कि स्टॉक ब्रोकर भाग जाए तो आप क्या-क्या कर सकते हैं स्टॉक ब्रोकर के भाग जाने पर आपको अपने शेयर कैसे मिलेंगे और भी आपने कई सारे बिंदुओं के ऊपर विस्तार से जानकारी पड़ी है तो यदि आपको यह लेख अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें अब आपका यदि इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल या सुझाव है तो आप वह हमारे साथ कमेंट में साझा कर सकते हैं इस लेख स्टॉक ब्रोकर भाग जाए तो को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

Leave a Comment

error: Content is protected !!