सेबी [SEBI] क्या है- सेबी की पूरी जानकारी हिंदी में

भारतीय शेयर बाजार की गतिविधियों पर निगरानी रखने के लिए सेबी की स्थापना की गई है बाजार में काम करने वाले निवेशकों और कंपनियों के हित में कार्य करने के लिए sebi भी काम करता है सेबी छोटे और बड़े निवेशसको के द्वारा किए गए निवेश और इंसाइडर ट्रेडिंग जैसी कई सारी गतिविधियों के ऊपर हमेशा अपनी नजर बनाए रखता है जिस तरीके से भारत में किसी भी व्यक्ति के द्वारा इनलीगल कार्य करने पर पुलिस उसे गिरफ्तार कर लेती हैं वैसे ही शेयर बाजार में इल्लीगल कार्य करने पर से भी sebi तुरंत कार्रवाई करती है चलिए अब आगे हम विस्तार से जानते हैं कि सेबी क्या है साथ ही सेबी के वह महत्वपूर्ण अंग जिनके बारे में जानना आपको अत्यावश्यक है

सेबी क्या है

सरकार के द्वारा बनाई गई sebi एक ऐसी संस्था है जो शेयर बाजार की गतिविधियों के ऊपर नजर रखता है सीबी देश के लिए प्रतिभूति बाजार नियामक के रूप में कार्य करता है

सेबी की स्थापना कब और क्यों की गई थी ?

भारत सरकार के द्वारा 31 जनवरी 1993 को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड की स्थापना की गई थी सेबी की स्थापना करने के पीछे शेयर बाजार को सेव और सिक्योर बनाना था क्योंकि सेबी की स्थापना से पहले शेयर बाजार में बहुत सारे फ्रॉड होना आम बात थी लेकिन सेबी की स्थापना के बाद शेयर बाजार में लिस्टेड कंपनियां और निवेशक के अलावा शेयर बाजार से संबंधित सभी कार्यों के ऊपर सेबी की नजर रहती है

सेबी का इतिहास

भारतीय शेयर बाजार को नियंत्रण करने के लिए सेबी से पहले कंट्रोलर of कैपिटल इश्यूज संचालित कर रही थी लेकिन बाद में 12 अप्रैल 1988 के समय सेबी के नियम रख दी गई थी लेकिन इसके बावजूद सेबी भारत सरकार के द्वारा मान्यता 1 जनवरी 1992 को मिली थी और तबसे से भी आज तक भारतीय शेयर बाजार के लिए कार्य कर रहा है

Sebi का फुल फॉर्म

सेबी का फुल फॉर्म {Securities and Exchange Board of India} है सेबी का फुल फॉर्म हिंदी में [भारतीय प्रतिभूति और विनयम बोर्ड] है

सेबी का मुख्यालय कहां पर है

Sebi का मुख्यालय मुंबई में स्थापित है इसके अलावा देश के सभी हिस्सों से कार्य करने के लिए सेबी के देश में कई जगह पर कार्यालय भी स्थापित है भारत में कोलकाता, अहमदाबाद, लखनऊ, हैदराबाद, चेन्नई, कोची, जयपुर, बेंगलुरु, नई दिल्ली और शिमला मैं प्रमुख कार्यालय स्थित है

सेबी का वर्तमान चेयरमैन

वर्तमान समय में सेबी के चेयरमैन अजय त्यागी है सेबी के चेयरमैन का चुनाव केंद्र सरकार के द्वारा किया जाता है

सेबी अध्यक्ष का कार्यकाल

Sebi के अध्यक्ष का कार्यकाल मुख्यतः 5 वर्ष का होता है लेकिन सरकार ने इस को 3 वर्ष का कर दिया सेबी के अध्यक्ष की आयु 65 वर्ष से कम होनी चाहिए इससे ज्यादा आयु वाला व्यक्ति सेबी का चेयरमैन नहीं बन सकता है

Sebi Offical website

www.sebi.gov.in – *Click

दोस्तों आपको सेबी [SEBI] क्या है और इससे संबंधित जानकारी कैसी लगी है कमेंट करके हमें जरूर बताएं हम आपको हमेशा की तरह मुश्किल जानकारी को आसान शब्दों में समझाने की कोशिश करते हैं हमें आशा है कि आपको यह लेख पसंद आया होगा यदि इस लेख में कुछ त्रुटि है तो आप हमें वह बता सकते हैं सेबी [SEBI] क्या है लेख को अंत तक पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद भी🙏🙏

Leave a Comment