शेयर बाजार के नियम | Share Market Ke Niyam

नमस्कार डियर पाठक आज के आर्टिकल में आपको शेयर बाजार के नियम बताएंगे। क्योंकि आज के दौर में शायद ही कोई ऐसा इन्वेस्टर या ट्रेडर, बिजनेसमैन होगा जिसको शेयर मार्केट के बारे में पता नहीं है, आपको बता दें कि स्टॉक मार्केट में प्रॉफिट कमाने के लिए केवल पैसों का इन्वेस्टमेंट ही काफी नहीं है। जरूरी है निवेशक को शेयर बाजार के नियम की जानकारी होना।

इन नियमों को जानने के बाद आप जान पाएंगे कि स्टॉक मार्केट में कब निवेश करना चाहिए जो एक निवेशक के लिए फायदेमंद हो, तो चलिए आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे स्टॉक मार्केट के नियम और निवेश करने से जुड़ी जानकारी–

हैजिंग क्या है, स्टॉक मार्केट में नुकसान को कर दे जीरो

शेयर मार्केट के नियम (Share Market Rules in Hindi)

डियर पाठक जैसा कि आप सब जानते हैं, स्टॉक मार्केट यहां पर इन्वेस्टरो मोटा प्रॉफिट कमाने का मौका देता है, लेकिन तब जब कोई निवेशक सही स्ट्रेटजी और नियमों को फॉलो करता है तो स्टॉक मार्केट उसको बड़ा पैसा कमाने का अवसर प्रदान करता है। लेकिन ऐसा तभी पॉसिबल होता है जब किसी निवेशक ने शेयर मार्केट को अपना समय दिया हो, सही से सीखा हो और स्टॉक मार्केट से अच्छी तरह वाकिफ हो।

अब नियमों में जैसे सर्टिफाइड ब्रोकर के पास अपना डिमैट अकाउंट ओपन करना, सही समय पर अच्छे ट्रेड लेना, और भी बहुत सारे नियम होते हैं। जो एक निवेशक को जानने चाहिए ताकि वह भविष्य में कोई गलती ना करें, इसलिए आपको नीचे कुछ नियम बताए जा रहे हैं, स्टॉक मार्केट के जिसके अनुसार आप शेयर मार्केट में निवेश करेंगे तो आपके लिए काफी फायदेमंद होगा।

शेयर मार्केट का गणित

शेयर बाजार के नियम –

1, सही और रजिस्टर्ड ब्रोकर चुने

डियर पाठक शुरुआत जब आप पहला कदम स्टॉक मार्केट में रखते हैं, तो आपको ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता होती है। इसलिए आपको प्रतिष्ठित और भरोसेमंद स्टॉक ब्रोकर के साथ अपना ट्रेडिंग अकाउंट यानी डीमैट अकाउंट खुलवाना चाहिए, क्योंकि ऑनलाइन सही ब्रोकर चुनने से आपके पोर्टफोलियो के प्रदर्शन पर पॉजिटिव इफेक्ट पड़ेगा, और आपको पता है कि स्टॉक मार्केट में एनालिसिस और रिसर्च बहुत महत्वपूर्ण है।

और यह शुरू हो जाता है, एक सही स्टॉक ब्रोकर के चयन करने के साथ, सही ब्रोकर चुनने के लिए आपको यह जानना चाहिए कि कितने इन्वेस्टर्स ब्रोकर के साथ जुड़े हैं। और यह भी देखें कि उस स्टॉक ब्रोकर के लिए एक्सचेंज में कितनी कंप्लेन दर्ज है, और इसका परफॉर्मेंस कैसा है यह सब रिव्यु चेक करने के बाद ही आप अपना डीमेट अकाउंट खुलवाएं।

2, टिप के भरोसे नहीं रहे

अभी स्टॉक मार्केट में कई नए नए ट्रेडर आते हैं, और वह जल्दी जल्दी अमीर बनना चाहते हैं इस चक्कर में वह फ्रॉड लोगों के चक्कर में पड़ जाते हैं जो कि यूट्यूब भरे पड़े हैं, उनको खुद नहीं पता और कई लोग तो न्यूज़ का सहारा लेते हैं, इसलिए जरूरी यह है कि आप अपनी रिसर्च पर ध्यान दें अपनी नॉलेज को बढ़ाने का प्रयास करें किसी टिप के भरोसे नहीं रहे।

और अगर कोई आपको बोलता है कि मैं आपका लॉस कवर करवा दूंगा, तो सीधी बात यह है कि वह झूठ बोल रहा है आप ऐसे लोगों के चक्कर में ना पड़े तो ही बेहतर है, क्योंकि अगर आपने पैसा लगा दिया मार्केट में अगर वह बदल गए तो आप उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकते इसलिए मार्केट को टाइम दे जल्दी-जल्दी अमीर बनने पर फोकस ना करें।

बोनस शेयर क्या है

3, मार्केट को समझें

अब कई सारे लोग यूट्यूब पर या फिर इंस्टाग्राम Reels पर देखकर, स्टॉक मार्केट में जुड़ तो जाते हैं लेकिन उनको जल्दी जल्दी अमीर बनना होता है और कम नॉलेज होने के कारण वह बहुत बड़ा नुकसान कर बैठते हैं, लेकिन अगर आप स्टॉक मार्केट में वाकई पैसा कमाना चाहते हैं, और मार्केट में रहना चाहते हैं तो उसके लिए जरूरी है, कि आप मार्केट को पढ़ें और परखे और उसके अनुसार अपने ट्रेडिंग का डिसीजन ले।

लेकिन शुरू शुरू में इन्वेस्टर को मार्केट को जानना काफी डिफिकल्ट होता है, लेकिन आप स्टॉक पत्रिका से जुड़ सकते हैं, आप हमारे टेलीग्राम ग्रुप और फेसबुक पेज स्टॉक पत्रिका वेबसाइट इस पर आप आर्टिकल पढ़ रहे इस साइट पर आपको मार्केट की हर नॉलेज सिंपल भाषा में मिलेगी।

इसलिए जब भी स्टॉक मार्केट में निवेश करें तो पहले टेक्निकल एनालिसिस फंडामेंटल एनालिसिस और चार्ट को समझें क्योंकि एक चार्ट है, ना स्टॉक मार्केट का किंग होता है इन सब बातों से आपको एक अच्छा मार्गदर्शन मिलेगा जिससे आप अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए स्टॉक मार्केट में बिल्कुल जल्दबाजी नहीं करें यह मार्केट है आप इसको टाइम दोगे और यह आपको पैसे देगा।

4, रिस्क मैनेज करना सीखें

स्टॉक मार्केट में हर कदम रिस्की है, यहां पर मेहता साहब का एक फेमस डायलॉग भी की रिस्क है तो इश्क है, लेकिन आप इस डायलॉग पर विश्वास ना करें बल्कि अपने रिस्क को मैनेज करके चल और अपने जोखिम का आकलन करके ही निवेश राशि का चयन करें और अपने रिस्क मैनेजमेंट के लिए स्टॉप लॉस (स्टॉप लॉस क्या) का ध्यान रखें,

और हमेशा अपने लॉस को कम रखें, स्टॉप लॉस के लिए आप सही ट्रिगर प्राइस ( ट्रिगर प्राइस क्या होता है) लगाए और उसकी इंफॉर्मेशन रखें और उसका इस्तेमाल कर शेयर मार्केट में कदम रखे यानी कि निवेश करें।

5, ‌सही समय पर सही निर्णय

डियर पाठक आपको बता दें कि अगर आप मार्केट में अभी नए हैं और शुरुआती दौर में है तो आपको इंट्राडे ट्रेडिंग से फिलहाल दूरी बनाकर रखनी चाहिए, लेकिन आपको मार्केट के टाइम पर जरूर फोकस करना चाहिए क्योंकि शुरुआत में आप जितना मार्केट को टाइम देंगे उतना आपके लिए अच्छा है, अब जैसा कि आपको पता है मार्केट सुबह 9:15 पर खुल जाता है और शाम को 3:30 पर बंद हो जाता है।

अब अगर आपके पास सही नॉलेज है और आप मार्केट को लगातार देख रहे हैं, तो आप मार्केट में कुछ ना कुछ ऐसी बात पकड़ लोगे जिससे कि आपको सही टाइम पर कब एंट्री बनानी है, यह चीजें नॉलेज में आने लगेगी। लेकिन अब आपको अगर कोई बोले कि मार्केट में 9:30 से लेकर 10:30 के बीच में ट्रेड करना चाहिए जिससे आपको प्रॉफिट होगा लेकिन आपको बता दें,

ऐसा कुछ नहीं है, मार्केट कभी भी अपना रुख बदल सकता है इसलिए जरूरी यह है कि आपके पास मार्केट का एनालिसिस और मार्केट की समझ होना आवश्यक है, और सही टाइम आपके दिमाग में होना चाहिए ना की किसी के कहने पर आप मार्केट में बैठे, और मार्केट बड़ा अस्थिर रहता है, इसलिए इसका कोई टाइम फिक्स नहीं है।।

6, भावनाओं पर नियंत्रण रखें।

लॉजिक पर भरोसा रखें, और भावनाओं में नहीं बहे — शेयर बाजार इतना तेजी से बढ़ा है उतना ही इसने कई लोगों को बर्बाद भी किया है कारण लोग भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख पाते, उनकी भावना कहती है कि यह ऊपर जाएगा या नीचे आएगा जबकि वह लॉजिक नहीं लगाते हैं और नहीं एनालिसिस करते हैं,

पर एक कारण यह भी हो सकता है, कि वह जब ट्रेड करने बैठे तो भावनाओं में बह कि मैं करोड़पति बनूंगा और छोटी अवधि में अधिक पैसा बनाने का लालच भी बर्बाद कर सकता है, लेकिन अगर आप स्टॉक मार्केट में महारत हासिल करना चाहते हैं, तो अपनी भावनाओं को काबू में रखें और हमेशा लॉजिक और विवेक के आधार पर डिसीजन ले।

7, भेड चाल और अफवाहों से दूर रहे।

कई बार लोग दूसरे लोगों को देखकर इंस्पायरर होते हैं और उन्हें लगता है, कि यह करोड़पति बने तो मैं भी बनूंगा यह विचार अच्छा है, आप अपने हिसाब से पहले मार्केट को समझे फिर ही आगे बढ़ने का क्योंकि लोग सोचते हैं। उसने वहां पर इन्वेस्ट किया तो मैं भी कर दूंगा तो इतना बढ़ जाएगा लेकिन ऐसा नहीं है, और कुछ लोग आपको के चक्कर में आ जाते कि यह स्टॉक बढ़ेगा भविष्य में तो उसमें इन्वेस्ट कर देते हैं इसलिए ऐसा नहीं करें।

सेबी के नए मार्जिन नियम

डियर पाठक, शेयर मार्केट के नियम सभी सेगमेंट के लिए लगभग सेम ही होते हैं लेकिन अगर डिलीवरी नियम के अतिरिक्त इंट्राडे ट्रेडिंग के नियमों की बात करें तो सभी ने कुछ नए नियम दिए हैं जिससे रिटेलर ट्रेडर डे ट्रेडिंग में किसी भी प्रकार के नुकसान से बचे रहें।

इसलिए, सितंबर 2021 से SEBI के नए मार्जिन नियमों के अनुसार ट्रेडर्स को एक स्टॉकब्रोकर जो अधिकतम मार्जिन प्रदान कर सकता है वह 5 गुना रह गया है।

SEBI के नए मार्जिन नियम क्या हैं?

  • 1 दिसंबर, 2020- 25% कम।
  • 1 मार्च, 2020- 25 + 25 = 50% कम।
  • 1,2021 जून- 25 + 25 + 25 = 75% कम।
  • 1 सितंबर, 2021- कोई मार्जिन नहीं।

लेकिन अभी फिलहाल से सेबी है ने इस मामले में कुछ राहत प्रदान की है।

निष्कर्ष : शेयर बाजार के नियम

डियर पाठक आज के इस लेख में शेयर बाजार के नियम समझे शेयर बाजार के नियम हर एक ट्रेडर पर लागू होते हैं क्योंकि बिना योजना के कोई भी कार्य सफल नहीं होता है, फिर उस कार्य को कार्य नहीं तुक्का कहते हैं। इसलिए आप तुक्का नहीं लगाए बल्कि एनालिसिस करके योजना बनाएं, आशा करते हैं आजकल एक आपको नॉलेजेबल लगा होगा अगर आपको यह जानकारी पसंद आई है तो इस अपने सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें।

धन्यवाद

TEAM STOCK PATRIKA

3 thoughts on “शेयर बाजार के नियम | Share Market Ke Niyam”

Leave a Comment

error: Content is protected !!