NSE Or BSE Which Is Better? कौनसा शेयर बाजार अच्छा है?

डियर पाठक स्वागत है आपका स्टॉक पत्रिका परिवार में आज के इस लेख के माध्यम से हम जानेंगे कि, NSE Or BSE Which Is Better? कौनसा शेयर बाजार अच्छा है? क्योंकि जब भी आप कोई अखबार या न्यूज़ पढ़ते हो तो आपको NSE Or BSE नाम अवश्य सुनने को मिले होंगे और अगर आप ट्रेडिंग करना चाहते हो तो यह जानकारी आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाली है तो डियर पाठक आप से गुजारिश है कि इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें

जिससे कि आप यह जान पाएंगे कौन सा स्टॉक एक्सचेंज बेहतर है और NSE और BSE में आखिर क्या अंतर है और कौन से स्टॉक एक्सचेंज में ट्रेडिंग करना अच्छा होता है कौनसे स्टॉक एक्सचेंज में क्या होता है आपके इन सारे सवालों के उत्तर आगे आने वाले हैं

स्टॉक मार्केट कैसे सीखे

BSE क्या है? NSE Or BSE Which Is Better?

बीएससी का मतलब बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) है और यह भारत का पहला और सबसे बड़ा सिक्योरिटी मार्केट है। इसकी स्थापना 1875 में नेटिव शेयर एंड स्टॉक ब्रोकर्स एसोसिएशन के रूप में हुई थी। मुंबई स्थित मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में लगभग 6,000 कंपनियां लिस्टेड हैं और NYSE, नास्दक, लंदन स्टॉक एक्सचेंज ग्रुप, जापान एक्सचेंज ग्रुप और शंघाई स्टॉक एक्सचेंज के साथ ही BSE दुनिया के 11 सबसे बड़े एक्सचेंजों में से एक है। इन्वेस्टिंग में रुपए जुटाने के लिए भारतीय कॉरपोरेट क्षेत्र के लिए कारगर मंच उपलब्ध करवाकर और शेयर मार्केट के विकास में बीएसई की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

साथ ही आपको यह भी बताते चले कि BSE इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्रणाली के लिए जाना जाता है, जिसमें तेज और प्रभावी ट्रेड एक्सीक्यूशन उपलब्ध कराता है। BSE इन्वेस्टरो को इक्विटीज, करेंसीज, डेट इंस्ट्रूमेंट्स, डेरिवेटिव्स और म्युचुअल फंड्स में ट्रेड करने अनुमति देता है। और आपको बता दें कि बीएसई इन सब सेवाओं के साथ साथ रिस्क मैनेजमेंट, क्लीयरिंग, सेटलमेंट जैसी अन्य महत्वपूर्ण स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग सेवाएं भी उपलब्ध करता है।

NSE क्या है? NSE Or BSE Which Is Better?

NSE का पूरा नाम National Stock Exchange Of India Limited जिसका हिंदी में पूरा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड है.

NSE भारत का पहला Electronic Stock Trading  प्रदान करवाने वाला स्टॉक एक्सचेंज है. स्टॉक मार्केट में 1992 में हर्षद मेहता के स्कैम के बाद भारत सरकार ने निवेशकों के हितों की रक्षा करने तथा शेयर बाजार को नियंत्रण करने वाली संस्था SEBI का गठन किया. उस समय BSE ही एकमात्र स्टॉक एक्सचेंज हुआ करता था. NSE भारत का सबसे बड़ा और तकनीकी रूप से विकसित स्टॉक एक्सचेंज है. NSE की स्थापना के बाद ही स्टॉक मार्केट में कागजी कार्यवाही के स्थान पर इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग की शुरुवात हुई, और स्टॉक मार्केट में अधिक पारदर्शिता बनी.

हमने एक टेबल के माध्यम से यह समझाने का प्रयास किया है कि BSE और NSE मे कितना अंतर है।

जिससे आपको समझने मे आसानी होगी कि NSE Or BSE Which Is Better? कौनसा शेयर बाजार अच्छा है? ओर किस शेयर बाजार मे treding करें

NSE और BSE में अंतर

NSEBSE 
NSE का फुल फॉर्म National Stock Exchange है.BSE का फुल फॉर्म Bombay Stock Exchange है.
NSE की स्थापना 1992 में हुई थी.BSE की स्थापना 1875 में हुई थी.
NSE भारत का दूसरा स्टॉक एक्सचेंज है.BSE भारत का पुराना स्टॉक एक्सचेंज है.
NSE का इंडेक्स Nifty है.  जिसमें शीर्ष 50 कंपनियों को लिस्ट किया गया है.BSE का इंडेक्स Sensex है. जिसमें 30 शीर्ष कंपनियों को लिस्ट किया गया है.
इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम को सबसे पहले NSE ने 1992 में शुरू किया था.BSE में इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग सिस्टम की शुरुवात 1995 में की.
NSE को 1993 में स्टॉक एक्सचेंज के रूप में पहचान मिली.BSE को 1957 में स्टॉक एक्सचेंज के रूप में पहचान मिली.
ग्लोबल रैंक 11 है.ग्लोबल रैंक 10 है.
2000 कंपनियां लिस्टेड हैं.6000 कंपनियां लिस्टेड हैं.

किस शेयर बाजार में ट्रेडिंग करें?

BSE or NSE दोनों ही शेयर बाजार अच्छे हैं आप किसी में भी ट्रेडिंग कर सकते हैं बस आपके पास डीमेट अकाउंट होना चाहिए अगर आपको ऑप्शन ट्रेडिंग करनी है तो निश्चित है NSE में करेंगे और अगर स्टॉक में ट्रेडिंग करनी है तो आप BSE में कर सकते हैं।

Conclusion

डियर पाठक आपने इस लेख में जाना की NSE Or BSE Which Is Better? कौनसा शेयर बाजार अच्छा है? और हम आशा करते हैं कि आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा आपको फिर बता दें कि एनएसई और बीएसई दोनों ही भारतीय स्टॉक एक्सचेंज है और इनमें क्या फर्क है यह तो आपने ऊपर जान ही लिया आपको बता दें कि दोनों स्टॉक एक्सचेंज के अपने-अपने काम है आप किसी में भी ट्रेडिंग कर सकते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!