IPO क्या है | आईपीओ कैसे खरीदें | A to Z जानकारी

नमस्कार प्रिय पाठक स्वागत है आपका आज के इस लेख में, क्या आपको नहीं पता कि आईपीओ क्या होता है, इसका मतलब है कि आप शेयर मार्केट में नए है तो चलिए आज के इस लेख में हम आपको आईपीओ क्या है, आईपीओ कैसे खरीदे और बेचे, आईपीओ के फायदे और नुकसान और आईपीओ से संबंधित सारी जानकारी आपको आज इस लेख में हम देने वाले हैं तो कृपया आप इस लेख को अंत तक जरूर करें

IPO क्या है

जब भी किसी कंपनी को अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए पैसों की आवश्यकता पड़ती है तो वह सबसे पहले बड़े बड़े निवेशकों के पास जाती है लेकिन फिर भी कंपनी को और पैसों की आवश्यकता पड़ती है तो वह शेयर मार्केट में अपना आईपीओ लेकर आती है आईपीओ का मतलब होता है ( Initial public offering )

आईपीओ के माध्यम से कंपनी शेयर मार्केट में अपनी हिस्सेदारी को बेचती है और इसके बदले जो भी पैसा आता है उस पैसे से अपने बिजनेस को आगे बढ़ाती है

जब कोई कंपनी शेयर मार्केट में आईपीओ के माध्यम से जो हिस्सेदारी बेचती है है है उसे बड़े-बड़े इंस्टिट्यूट, म्यूचल फंड और रिटेल इन्वेस्टर खरीदते हैं

स्टॉक मार्केट कैसे सीखे ?

Ipo कैसे खरीदें और बेचे जाते हैं

जब कोई भी कंपनी अपना आईपीओ लेकर आती है तो लोगों का इसको खरीदने का समय 3 दिन का होता है इस आईपीओ को आप अपने ब्रोकर के माध्यम से डीमेट अकाउंट का इस्तेमाल करके खरीद सकते हैं आपको किसी भी कंपनी के आईपीओ में एक बोली लगानी पड़ती है

जो कि इतनी मुश्किल नहीं है जितना आप सोच रहे हैं अब आपको अगले 7 दिन के भीतर एक उस कंपनी के माध्यम से अलॉटमेंट का नोटिफिकेशन मिल जाएगा कि क्या कंपनी ने आपको शेयर अलॉट किए हैं या नहीं अगर किए हैं

तो यह शेयर कंपनी की लिस्टिंग के दिन आपके डीमेट अकाउंट में आ जाएंगे और अगर नहीं मिले हैं तो आपके अकाउंट से जो भी पैसा ब्लॉक हुआ था वह वापस आपके अकाउंट में अनब्लॉक हो जाएगा

आईपीओ कैसे काम करता है

जब कोई कंपनी शेयर मार्केट में आने के लिए अपना आईपीओ लेकर आती है तो इस पूरे प्रोसेस को पूरा होने में 10 दिन का समय लगता है

पहले 3 दिनों तक सभी बड़े और छोटे निवेशकों को इस कंपनी में पैसा लगाने का मौका मिलता है 3 दिन बाद आप इस कंपनी के अंदर पैसा नहीं लगा सकते हैं फिर अगले 7 दिनों के भीतर कंपनी यह डिसाइड करती है कि किस व्यक्ति को शेयर देने हैं और किसको नहीं देने हैं

क्योंकि प्रिय पाठक ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि आपने जिस कंपनी के आईपीओ को खरीदा है वह आपको मिलेगा ही मिलेगा ऐसा नहीं होता है अब 7 दिन के अंदर आपको पता चल जाता है कि कंपनी ने आप को शेयर दिए हैं या नहीं दिए हैं अगर आपको शेयर मिल गया है

तो अगले 3 दिनों के अंदर मतलब दसवे दिन कंपनी शेयर मार्केट के एक्सचेंज पर लिस्ट हो जाएगी अब आप यहां से अपने शहर को दे सकते हैं इस तरीके से आईटीओ काम करता है

आईपीओ के फायदे और नुकसान

आईपीओ के फायदे

यदि आपने किसी अच्छी कंपनी के आईपीओ में निवेश किया है तो कई बार यह है आशा बनी रहती है कि वह कंपनी जिस दिन शेयर मार्केट में लिस्ट होगी तब अच्छे दामों पर लिस्ट होती है

जिसके कारण आपको बहुत कम समय में बहुत ज्यादा मुनाफा देखने को मिल सकता है

आप आईपीओ के माध्यम से कम समय में अपने पैसे को डबल कर सकते हैं

आईपीओ के नुकसान

प्रिय पाठक पाठक कई बार ऐसा होता है कि आप जिस कंपनी के आईपीओ को खरीदते हैं अरे कंपनी जिस दिन शेयर मार्केट में लिस्ट होती है

उस दिन वह जिस प्राइस पर आप ने खरीदा उससे नीचे लिस्ट होती है जिसके कारण आपको नुकसान उठाना पड़ता कता है

आईपीओ के अंदर कम समय में पैसे बनाने के चक्कर में कई बार लोगों को बहुत बड़ा नुकसान हो जाता है

निष्कर्ष – Conclusion

आज के इस लेख में आपने सीखा कि आईपीओ क्या है आईपीओ को कैसे खरीदा और बेचा जाता है आईपीओ खरीदते समय आपको क्या फायदे व नुकसान हो सकते हैं इसके साथ ही हमने आईपीओ से संबंधित आपको संपूर्ण जानकारी देने की कोशिश की है

यदि आपका इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल यह सुझाव है तो आप में हमारे साथ कमेंट बॉक्स में साझा कर सकते हैं इस लेख को अंतत पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!