इक्विटी मार्केट क्या है | Equity Market in Hindi

नमस्कार डियर पाठक आज के लेख में हम जानेंगे, इक्विटी मार्केट क्या है? (What is Equity Market in Hindi) क्योंकि ज्यादातर लोगों को इक्विटी मार्केट के बारे में पता है मगर किसे इक्विटी मार्केट कहते हैं यह नहीं पता होता है, हालांकि इक्विटी के बारे में हमने पिछली पोस्ट में बात की थी स्टॉक मार्केट में कंपनियों द्वारा पैसे के बदले दिए जाने वाले इन शेयरों को इक्विटी कहा जाता है।

अगर आपको भी इक्विटी मार्केट के बारे में नहीं पता तो आप इस लेख को अंत तक पढ़िए आपको पूरा इक्विटी मार्केट समझ में आ जाएगा। तो चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि इक्विटी मार्केट क्या है?

बैंक निफ्टी क्या है और इसमें कौन-कौन सी बैंक के शामिल है

Equity Market Kya Hai | What is Equity market in Hindi

इक्विटी मार्केट क्या है – इक्विटी मार्केट एक ऐसा प्लेटफार्म है जहां पर सूचीबद्ध कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं और इक्विटी मार्केट को शेयर मार्केट या फिर स्टॉक मार्केट के रूप में भी जाना जाता है क्योंकि यहां पर स्टॉक्स की ट्रेडिंग होती है।

कोई भी निवेशक शेयर को खरीदना और बेचना चाहता है, तो वह NSE यानी नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और दूसरा BSE यानी बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड कंपनियों के शेयर खरीद और बेच सकता है, लिस्टेड कंपनिया इकाइयां होती हैं जिन्होंने पब्लिकली निवेशकों को अपनी इक्विटी यानी हिस्सेदारी का कुछ हिस्सा ऑफर किया है।

प्रिय पाठक आपको बता दें कि कुछ वर्षों पहले किसी भी निवेशक को अगर शेयर मार्केट में शेयर खरीदने और बेचने हैं तो उसको बोम्बे स्टॉक एक्सचेंज जाना पड़ता था। मगर आज के समय में सब कुछ ऑनलाइन हो गया है और कई सारे ब्रोकर ऑनलाइन अपनी सर्विस दे रहे हैं जैसे – Zerodha, Angel One, मोतीलाल ओसवाल, आदि तो आप अपना डिमैट अकाउंट खोलकर ट्रेडिंग शुरू कर सकते हैं।

इक्विटी मार्केट के प्रकार

इक्विटी मार्केट के दो प्रकार होते है –

  1. प्राइमरी मार्केट, (प्राथमिक बाजार)
  2. सेकेंडरी मार्केट, (द्वितीयक बाजार)

चलिए प्राइमरी मार्केट और सेकेंडरी मार्केट को हम विस्तार से समझते हैं,

1⃣प्राइमरी मार्केट क्या है?

प्रिय पाठक आपको बता दें कि कोई भी कंपनी शेयर मार्केट में पब्लिक से पैसा जुटाने के लिए आती है, तो उसे सबसे पहले स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होना पड़ता है, और उसके लिए कंपनी को आईपीओ (IPO – Initial Public Offer) की प्रोसेस से गुजरना पड़ता है।

आईपीओ के दौरान कंपनी अपनी हिस्सेदारी का निश्चित हिस्सा पब्लिक को ऑफर करती है और पब्लिक खरीदती हैं, फिर आईपीओ के क्लोज होने के बाद शेयर स्टॉक एक्सचेंजो पर लिस्टेड होते हैं। जो कि शेयर मार्केट में बेहद महत्वपूर्ण है घटक है और भारत में NSE व BSE प्राइमरी इक्विटी मार्केट कहलाते हैं।

2⃣सेकेंडरी मार्केट क्या है?

सेकेंडरी मार्केट कंपनी के आईपीओ आने के बाद की स्थिति को कहते हैं क्योंकि आईपीओ आने के बाद कंपनी मार्केट में लिस्ट हो जाती है, सेकेंडरी मार्केट में इन्वेस्टर अपने निवेश से बाहर निकल सकते हैं उनको यह ऑप्शन सेकेंडरी मार्केट में मिलता है,

और जो निवेशक आईपीओ के टाइम पर शेयर को खरीदने में विफल रहे थे, वह द्वितीय बाजार में यानी सेकेंडरी मार्केट में उस कंपनी में निवेश करके शेयर को खरीद सकते हैं। आपको बता दें कि शेयर मार्केट में ट्रेडिंग ब्रोकर्स के माध्यम से होती है और ब्रोकर्स स्टॉक मार्केट में निवेशकों के बीच बिचौलियों के रूप में कार्य करते हैं।

प्रिय पाठक जैसे जैसे लोग कंपनियों के शेयर को खरीदने लगते हैं, तो उनकी कीमत बढ़ने लगती है, और जब लोग शेयरो को बेचने लगते हैं, तो इक्विटी मार्केट में शेयर की कीमत कम होने लगती है। और इस स्थिति को शेयर मार्केट में सेकेंडरी मार्केट कहते हैं, यानी आईपीओ के बाद होने वाली ट्रेडिंग सेकेंडरी मार्केट में होती है।

क्या इक्विटी (शेयर) मार्केट में निवेश करना चाहिए?

हां जी बिल्कुल अवश्य शेयर मार्केट में पैसा इन्वेस्ट करना चाहिए लेकिन कब जब आपको स्टॉक मार्केट का नॉलेज हो तब क्योंकि भारत में अधिकतर उन लोग मार्केट में पैसा सही टाइम पर निवेश नहीं करते हैं, और फिर वोलैटिलिटी से डरकर बाहर निकल जाते हैं।

क्योंकि अधिकतर लोगों को लगता है मार्केट अपट्रेंड में है, मतलब पैसा ही पैसा होगा और जब मार्केट थोड़ा सा नीचे मूव करता है, यानी डाउनट्रेंड में होता है तो लोग फिर डर के मारे मार्केट को ही छोड़ देते और उनको लॉस हो जाता है। और फिर कहते फिरते हैं की स्टॉक मार्केट तो जुआ है, जब आपने एंट्री ही सही नहीं ली तो मार्केट की क्या गलती है।

और कई सारे नामचीन लोगों ने पैसा कमाया है यहां से तो यह कहना तो बिल्कुल गलत है कि मार्केट केवल नुकसान करता है।

प्रिय पाठक अगर आप मार्केट को सीखने के लिए तैयार है तो मार्केट भी पैसा देने के लिए तैयार है और आपको बता दें कि शेयर मार्केट एक ऐसा इन्वेस्टमेंट सेक्टर हैं जहां पर अगर आपको मार्केट की नॉलेज आ गई तो यह तो पक्का है कि आप कभी गरीब नहीं रहोगे, लेकिन पहले मार्केट को सीखना और टाइम देना बहुत जरूरी है बिना सीखे गए तो मार्केट आपको धक्के देकर बाहर निकालेगा।

चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं कि मार्केट में पैसा कब निवेश करना चाहिए

शेयर मार्केट में कब निवेश करना चाहिए

अगर आप हमसे पूछे कि मार्केट में कब निवेश करना चाहिए तो हम हमेशा आपको बताते‌ आये है कि जब आप मार्केट को अच्छी तरीके से सीख जाए हालांकि यह कोई एक-दो दिन में सीखने वाला काम नहीं है आपको अपना बहुत सारा समय मार्केट को देना होगा, और मन को कंट्रोल कर के कई सारे फ्रॉड लोगों से भी बचना होगा।

स्टॉक मार्केट में निवेश करने के लिए क्या-क्या जरूरी है

  1. पहले तो आपको मार्केट में अपनी साइकोलॉजी को डेवलप करना होगा ताकि आप इमोशन में आकर कोई भी निर्णय न ले। आपको अपनी रणनीति बनानी होगी।
  2. दूसरा आपको पहले मार्केट के बेसिक्स को सीखना होगा जैसे – ‌ सेबी क्या है, NSE, BSE, बुल और बियर मार्केट क्या है, ब्रोकर, फेस वैल्यू, बुक वैल्यू, चार्ट रीडिंग, मार्केट केपीटलाइजेशन, ऐसैट्स की नॉलेज, और बहुत सारी चीजें जो आप स्टॉक पत्रिका वेबसाइट से भी सीख सकते हैं।
  3. इनके अलावा थोड़ा एडवांस माय तो फंडामेंटल एनालिसिस सीखना होगा और टेक्निकल एनालिसिस सीखना होगा।
  4. किस कंपनी के शेयर खरीदने चाहिए कंपनी के बारे में एनालिसिस करना आना चाहिए।

जब आप मार्केट में इन सारी चीजों को सीख जाए तब आप छोटे-छोटे इन्वेस्टमेंट शुरू कीजिए और ध्यान रखें कभी भी किसी के बहकावे में आकर स्टॉक मार्केट में निवेश नहीं करें आप स्वयं की एनालिसिस पर भरोसा करें स्वयं पर भरोसा करें और मार्केट पर भरोसा करें, बाकी हमारी शुभकामनाएं

इक्विटी मार्केट कैसे कार्य करता है

इक्विटी मार्केट में स्टॉक एक्सचेंजो‌ पर लिस्टेड कंपनियों के शेयर्स खरीदे और बेचे जाते हैं और शेयर्स को खरीदने के लिए निवेशकों के पास एक डीमैट अकाउंट होना चाहिए वेरीफाइड ब्रोकर के पास। क्योंकि डीमेट अकाउंट में ही निदेशकों के द्वारा खरीदे गए शेयर्स स्टोर रहते हैं।

निवेशकों के द्वारा खरीदे गए सभी शेयर्स Dematerialized रूप में स्टोरेज भी होते हैं। और ट्रेडिंग अकाउंट में निवेशक इक्विटी शेयर्स को बाय सेल करते हैं। ट्रेडिंग करने के लिए डीमेट अकाउंट में बैंक अकाउंट द्वारा फंड एड करना पड़ता है फिर उसकी फंड के द्वारा निवेशक ट्रेडिंग करते हैं।

जब निवेशक शेयर्स की डिलीवरी लेते हैं तो उसे 1 दिन से अधिक अवधि के लिए होल्ड कर सकते हैं मतलब कि लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट जो निवेशक कभी भी बेच सकते हैं। और अगर निवेशक उसी दिन शेयर को खरीद कर बेचते हैं तो कितने इंट्राडे ट्रेडिंग कहते हैं, और इसमें ब्रोकर कुछ ब्रोकरेज फीस लेता है हालांकि आप इंट्राडे ट्रेडिंग तभी करें जब आपको मार्केट की पूरी समझ हो।

इक्विटी मार्केट में फायदे क्या है

इक्विटी मार्केट के कई सारे फायदे हैं चलिए जानते हैं –

  1. इक्विटी, एक रिस्की निवेश हैं और यह बचत खाते या सावधि जमा के कंपैरिजन में अधिक रिटर्न देता है क्योंकि इसमें जो प्रॉफिट होता है वह लगभग असीमित होता है।
  2. इक्विटी मार्केट डेरिवेटिव के इस्तेमाल के माध्यम से विशेष रुप से ऑप्शन मार्केट में ट्रेडिंग करके रिस्क को कम करना और प्रॉफिट को ज्यादा बनाने के लिए संभव होता है।
  3. प्रिय पाठक इक्विटी में निवेश करने के लिए साउंड स्टॉक मार्केट के ज्ञान का इस्तेमाल करना भविष्य की फाइनेंसियल जरूरतों के लिए एक बड़े कॉर्पस के निर्माण की चाबी है, क्योंकि आपको बता दें इक्विटी लॉन्ग टर्म में ज्यादा रिटर्न देती है।
  4. यहां तक की प्रतिष्ठित कंपनियों की इक्विटी मार्केट में निवेश से डिविडेंड का ज्यादा बेनिफिट होता है। डिविडेंड वह भुगतान है जो शेयरहोल्डर्स को कंपनी के प्रॉफिट की कमाई से मिलता है। हालांकि यह देना अनिवार्य नहीं होता है, लेकिन कंपनी अपने निवेशकों को लुभाने के लिए या फिर स्थापित व्यवसाय अपने शेयरहोल्डर्स के आधार पर बढ़ाने के लिए डिविडेंड का भुगतान करती है।

निष्कर्ष: इक्विटी मार्केट क्या है

प्रिय पाठक आपको समझ में आ गया होगा कि इक्विटी मार्केट वह मार्केट है जहां पर लिस्टेड कंपनियों के शेयर खरीदे और बेचे जाते हैं यानी कि इक्विटी मार्केट को ही शेयर मार्केट या फिर स्टॉक मार्केट कहा जाता है। और शेयर मार्केट के बारे में लगभग आप सभी को नॉलेज होगी ही होगी।

आशा करते हैं आज का लेख इक्विटी मार्केट क्या है आपको पसंद आया होगा, अगर आप भी शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो उस स्टॉक पत्रिका पर शेयर मार्केट का पूरा ज्ञान आपको मिल जाएगा।

कीवर्ड

इक्विटी मार्केट की पूरी जानकारी, Equity market kya hai, Equity market meaning in hindi, Equity market definition in hindi, Types of Equity market in hindi, what is equity market in hindi,

2 thoughts on “इक्विटी मार्केट क्या है | Equity Market in Hindi”

  1. बहुत अच्छी जानकारी दी गई है।

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!